UPCA के पूर्व डायरेक्टर एमएम मिश्रा का हृदय गति रुकने से हुआ निधन

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन और रोटरी क्लब में 4 दशकों तक अपनी प्रदान देने वाले पूर्व कोषाध्यक्ष व निदेशक एमएम मिश्रा का हृदय गति रुकने से सोमवार को निधन हो गया। वह यूपीसीए से 45 सालों से भी अधिक समय से जुड़े रहें थे। उन्होंने अपने कार्यकाल में यूपीसीए को नई ऊंचाइयों को आयाम तक पहुंचाने में स्वर्गीय ज्योति वाजपेई कंधे से कंधा मिलाकर साथ दिया था। वह आजकल पूर्व सचिव राजीव शुक्ला के सबसे नजदीक माने जाते थे।

यूपीसीए में चल रही आंतरिक कलह से थे परेशान
उनके इस तरह चले जाने के बाद यूपीसीए में शोक की लहर दौड गई है। यूपीसीए के लिए उनका जाना बहुत दुखद बताया जा रहा है। आपको बता दें कि, एमएम मिश्रा को यूपीसीए में चल रही आंतरिक कलह बाजी से गहरा आघात लगा था वह जिला संघों की आपसी मतभेदों को भुलाने के लिए बिचौलिए का काम कर रहे थे।

दबाव बनाया जा रहा था उनपर
मिली जानकारी के मुताबिक उन्नाव में यूपीसीए द्वारा खरीदी गई जमीन को बिकवाने के लिए उन पर काफी दबाव बनाया जा रहा था। कुछ लोगों का कहना है की इस वजह से भी वह काफी परेशान थे। 90 वर्षीय झांसी निवासी एमएम मिश्रा के निधन पर यूपीसीए के लोगों को गहरा आघात लगा है और राजीव शुक्ला के करीबी बताये जाने वाले वाले एमएम मिश्रा के लिए न तो राजीव शुक्ला ने कोई ट्वीट क्या न ही शोक व्यक्त किया।

ये भी देखे: अगर बनना है रंक से राजा तो पहनिए ये रत्न

यूपीसीए में शोक की लहर
यूपीसीए के निदेशक रियासत अली ने उनको श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनका जाना यूपी से के लिए गहरी चोट है जिसे भर पाना थोड़ा मुश्किल है। वही उनको श्रद्धांजलि देते हुए ग्रीन पार्क के वेन्यू डायरेक्टर संजय कपूर ने कहा यूपीसीए को नई ऊंचाइयों तक ले जाने वाले एमएम मिश्रा की भरपाई अगले कई सालों तक नहीं की जा सकेगी।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *