पहली बार रोहित की कप्तानी में खेलते नजर आये विराट

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर टी-20 वर्ल्डकप के दूसरे अभ्यास मैच में विराट कोहली ने भारत के लिए गेंदबाजी की है। इस मैच में रोहित शर्मा कप्तानी कर रहे थे और उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की पारी का सातवां और तेरहवां ओवर कोहली से करवाया। इन दो ओवरों में विराट ने सिर्फ 12 रन खर्च किये।


इसके बाद अब यह कयास लगाए जा रहे हैं कि विराट भारत के छठवें गेंदबाज हो सकते हैं। कोहली इससे पहले भी टी-20 वर्ल्डकप में गेंदबाजी कर चुके हैं। इस साल भारत के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या पूरी तरह से फिट नहीं हैं और गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं। इस वजह से छठवें गेंदबाज की जिम्मेदारी खुद कप्तान कोहली अपने कंधों पर उठा सकते हैं।
कोहली के गेंदबाजी करने पर ईशान किशन को मिल सकता है मौका विराट कोहली के गेंदबाजी करने पर ईशान किशन को इसका फायदा मिल सकता है। भारतीय टीम में ईशान किशन की जगह बन सकती है। ईशान ने इस साल आईपीएल की आखिरी दो मैचों में पारी की शुरुआत करते हुए दो बेहतरीन अर्धशतक लगाए थे और इसके बाद अभ्यास मैच में भी ओपनिंग करते हुए 70 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। ऐसे में कोहली किशन को शुरुआत में मौका देने के लिए तीसरे नंबर पर खिला सकते हैं और खुद चौथे नंबर पर खेल सकते हैं

इसके साथ ही हार्दिक को टीम से बाहर किया जा सकता है और कोहली गेंदबाजी के छठवें विकल्प हो सकते हैं। रोहित का कोहली को गेंदबाजी सौंपना अच्छा फैसला साबित हो सकता है, क्योंकि इससे भारत को किशन के रूप में एक एक्स्ट्रा बल्लेबाज खिलाने का मौका मिलेगा और टीम संतुलित रहेगी।

कोहली अगर गेंदबाजी करते हैं तो टीम इंडिया की प्लेइंग-11 ये हो सकती है-
विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, केएल राहुल, सूर्यकुमार यादव, ईशान किशन, ऋषभ पंत, रवींद्र जडेजा, वरुण चक्रवर्ती/रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और शार्दुल ठाकुर/भुवनेश्वर कुमार।
ईशान के तीसरे नंबर पर खेलने पर क्या होगी भारतीय टीम कोहली यह साफ कर चुके हैं कि रोहित और राहुल भारत के लिए पारी की शुरुआत करेंगे। इसके अलावा टीम में बाकी के पांच गेंदबाज होंगे। इनमें तीन तेज गेंदबाज और दो स्पिनर या फिर तीन स्पिनर और दो तेज गेंदबाजों के साथ भी भारतीय टीम मैदान में उतर सकती है। यह पिच की स्थिति पर निर्भर करेगा।

तीन तेज गेंदबाज खिलाने की स्थिति में कोहली को छठे गेंदबाज की तलाश करनी होगी। ऐसे में हार्दिक अगर खेले तो किशन को बाहर बिठाना पड़ेगा। हालांकि, वह पिछले काफी समय से गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं। ऐसे में विराट की परेशानी बढ़ेगी।

हार्दिक के खेलने पर प्लेइंग-11 ये हो सकती है-
विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, केएल राहुल, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, वरुण चक्रवर्ती/रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और शार्दुल ठाकुर/भुवनेश्वर कुमार।
तीन स्पिनर और दो तेज गेंदबाज खिलाने की स्थिति में शार्दुल को बतौर ऑलराउंडर खिलाया जा सकता है। ऐसे में हार्दिक को बाहर कर, शार्दुल को शामिल किया जाएगा। साथ ही ईशान किशन बतौर बल्लेबाज खेलेंगे।

शार्दुल के खेलने पर प्लेइंग-11 ये हो सकती है-
विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, केएल राहुल, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, ईशान किशन, रवींद्र जडेजा, शार्दुल ठाकुर, वरुण चक्रवर्ती, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह।

सूर्यकुमार का फॉर्म ज्यादा खराब रहने पर उन्हें भी आराम दिया जा सकता है। उनकी जगह हार्दिक को ही बतौर बल्लेबाज खिलाया जा सकता है। साथ ही फिनिशर का रोल दिया जा सकता है। ऐसे में हार्दिक छठे या सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे।

ये भी देखे: कार्तिक मास का हिंदू धर्म में बहुत अधिक महत्व होता है,जानें क्यों


गेंदबाज के रूप में अच्छा नहीं है विराट का रिकॉर्ड
कोहली ने अब तक 12 टी-20 मैचों में गेंदबाजी की है और 4 विकेट अपने नाम किए हैं। इस दौरान उनकी इकॉनमी 8.14 की रही है। वहीं वनडे में उन्होंने 48 मैचों में गेंदबाजी की है और 4 विकेट निकाले हैं। वनडे में विराट की इकॉनमी 6.22 की है। जबकि आईपीएल में उन्होंने 26 मैचों में गेंदबाजी करके 4 विकेट निकाले हैं और 8.8 की इकॉनमी से रन खर्चे हैं। भले ही कोहली का अब तक गेंदबाजी रिकॉर्ड कुछ खास न हो, पर इस साल टी-20 वर्ल्डकप में भारत के अधिकतर मैच दुबई में होंगे। विराट बीच के ओवरों में आकर यहां गेंदबाजी कर सकते हैं और दुबई के बड़े मैदान का फायदा उठा सकते हैं, जहां उनकी धीमी गेंदों में बड़े शॉट लगाना आसान नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *