बिजनेस इनवाइस में इस्लाम एक ओनली सॉल्यूशन लिखा पर्चा खूब हो रहा वायरल

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर कानपुर में बिल की पर्ची पर विवादित भाषा का इस्तेमाल करने वाले एक कारोबारी को पुलिस ने हिरासत में लिया है। उसने दुकान के बिल की पर्ची पर इस्लाम द ओनली सॉल्यूशन लिखा था। ग्राहकों के हाथ में बिल की पर्ची आने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। अब पुलिस दुकानदार से पूछताछ करके पूरे मामले की तह तक पहुंचने की कोशिश कर रही है।

प्रतिष्ठान का नाम नहीं, मोबाइल नंबर लिखा

कानपुर की मेस्टन रोड पर स्थित रबड़ कारोबारी की दुकान की पर्ची में व्यापारिक प्रतिष्ठान की जगह पर व्यापारी का मोबाइल नंबर लिखा हुआ है। इसके नीचे बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा गया है “इस्लाम द ओनली सॉल्यूशन” यानी इस्लाम ही एक मात्र समाधान है। रबड़ कारोबारी की यह पर्ची सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगी।

ग्राहकों के लिये बेहद जरूरी होता है बिल
आपको बता दें कि दुकान से सामग्री खरीदने पर ग्राहक को एक बिल दिया जाता है। इस पर खरीदे गए सामान का अंकित मूल्य और प्रतिष्ठान से मिलने वाली वारंटी की जानकारी दी जाती है। प्रतिष्ठान का टिन नंबर, मोबाइल नंबर भी दिया जाता है। इसी बिल पर कारोबारी ने विवादित भाषा का इस्तेमाल किया है।

सोशल मीडिया से पुलिस को हुई जानकारी

डीसीपी ईस्ट प्रमोद कुमार ने कहा कि सोशल मीडिया के जरिए मामला संज्ञान में आया। इसके बाद पुलिस ने कारोबारी को चिह्रित कर लिया। आरोपी कारोबारी से पूछताछ की जा रही है। जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

कहीं यह लोग आईएएस मोहम्मद इफ्तिखारुद्दीन की भाषा तो नहीं बोल रहे है…

इस मामले की शुरुआती जांच में शहर के कई व्यापारियों के जुड़े होने और धर्म परिवर्तन के लिए फंड भी जुटाने का अंदेशा व्यक्त किया जा रहा है। धर्म परिवर्तन के लिये सभाओं के आयोजन में शहर का एक बड़ा व्यापारी वर्ग आईएएस मोहम्मद इफ्तिखारुद्दीन के सपोर्ट में आया था। पुलिस इससे भी जोड़कर जांच कर रही है।

ये भी देखे: कार्तिक मास का हिंदू धर्म में बहुत अधिक महत्व होता है,जानें क्यों

एलआईयू ऐसा करने वाले और कारोबारियों को ढूंढ रही
एलआईयू (लोकल इंटेलिजेंस यूनिट) ऐसे अन्य व्यापारियों का भी पता लगा रही है। सूत्रों के मुताबिक कानपुर में ऐसा कई दुकानदार कर रहे हैं। फिलहाल अभी तक एक मामला प्रकाश में आया है। एलआईयू भी अपनी रिपोर्ट तैयार करके शासन को भेज रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *