Amritpal Singh: ‘वार‍िस पंजाब दे’ को बैन करने की तैयारी में केंद्र सरकार, UAPA के तहत होगी कार्रवाई

0

Amritpal Singh Waris Punjab De: खुफिया और सुरक्षा एजेंसियां खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) पर एक विस्तृत डोजियर तैयार करने में लगी हैं. एक मीडिया रिपोर्ट में एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि एक संगठन पर प्रतिबंध लगाने के लिए हमें निर्णय लेने वाले प्राधिकरण के समक्ष उसे पकड़ने के लिए दस्तावेजी सबूत की जरूरत है, और इसके लिए एक फुलप्रूफ डोजियर की जरूरत होती है.

Amritpal Singh Waris Punjab De: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भगोड़े खालिस्तान समर्थक (Khalistani Supporter) अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) के संगठन ‘वारिस पंजाब दे’ पर  गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) के कड़े प्रावधानों के तहत प्रतिबंधित करने की तैयारी शुरू कर दी है. इसी कड़ी में खुफिया और सुरक्षा एजेंसियां खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) पर एक विस्तृत डोजियर तैयार करने में जुटी हैं. एक मीडिया रिपोर्ट में एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी के हवाले से कहा गया कि इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने के लिए हमें निर्णय लेने वाले प्राधिकरण के समक्ष उसे पकड़ने के लिए दस्तावेजी सबूत की जरूरत है, और इसके लिए एक फुलप्रूफ डोजियर की जरूरत है.

उत्तर-पूर्व की जेलों में स्थानांतरित हो सकते हैं कैदी
दि ट्रिब्यून” की एक रिपोर्ट के मुताबिक खुफिया एजेंसियों ने अमृतपाल के सहयोगियों को उत्तर-पूर्व और दक्षिणी राज्यों की जेलों में भेजने का सुझाव दिया है. ताकि पंजाब (Punjab) में किसी की भी रिहाई के लिए अजनाला जैसी घटना को अंजाम न दिया जा सके, जहां से थाने पर हमला बोल कर खालिस्तान समर्थक अपने साथी को भगा कर ले गए थे.

बताया जा रहा है कि इस मामले में गृह मंत्रालय की एक संयुक्त बैठक में निर्णय लिया गया. सुरक्षा प्रतिष्ठान के सूत्रों ने कहा कि तथ्य यह है कि अमृतपाल और उसके समर्थकों के खिलाफ पंजाब पुलिस (Punjab Police) द्वारा केंद्रीय बलों (Central Forces) और एजेंसियों की मदद से खुफिया सूचनाओं के आधार पर कार्रवाई हो रही थी. अब तक केंद्रीय खुफिया एजेंसियों ने ऐसी जानकारी जुटाई है जो इस तथ्य को स्थापित करती है कि लोग अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) के गुप्त मकसद को जाने बिना ही धर्म के नाम पर आंख मूंदकर उसका अनुसरण कर रहे थे.

युवाओं को फुसला कर आत्मघाती हमले करना चाहता था अमृतपाल
खुफिया एजेंसियों ने जो डोजियर तैयार किया है उसके मुताबिक वह पूरे पंजाब में दहशत फैलाने वाला था. खुफिया एजेंसियों के हवाले से अधिकारियों ने कहा है कि खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह हथियार जमा करने और युवाओं को आत्मघाती हमले करने के लिए नशा मुक्ति केंद्रों और एक गुरुद्वारे को उपयोग में ला रहा था.

विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों के इनपुट के साथ तैयार एक मोटे डोजियर में दावा किया गया है कि अमृतपाल जो कथित तौर पर पाकिस्तान (Pakistan) के आईएसआई (ISI) और विदेशों में रहने वाले खालिस्तान समर्थकों के इशारे पर पिछले साल दुबई से लौटा था, मुख्य रूप से युवाओं को मानव बम बनाने के लिए उनका ब्रेनवॉश करने में लगा हुआ था.

Read also: कानपुर-प्रयागराज : 50 परसेंट से अधिक तक बढ़ सकता है टोल टैक्स

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *