सीवेज पाइप से घर बना दिया झुग्गी – झोपड़ी वालों को घर

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर भारत में आवास या अपना घर न होना एक बड़ी समस्या है। एक रिसर्च के अनुसार भारत में करोड़ों लोगों ऐसे हैं जिनके पास रहने की जगह नहीं है। गरीबी और सुविधाओं के आभाव में कई लोग झुग्गी – झोपड़ी, तो कई बेकार पड़े शिपिंग कंटेनरों और सीवेज पाइप में रहने को मजबूर हैं। ऐसे ही लोगों के लिए तेलंगाना की मानसा रेड्डी, सीवेज पाइप से OPod ट्यूब हाउस बना रही हैं। जो किफायती होने के साथ काफी सुंदर है, जिसे एक जगह से दूसरे जगह आसानी से शिफ्ट भी किया जा सकता है।

मानसा ने इस साल जनवरी में ‘Samnavi Constructions’ नाम से स्टार्टअप शुरू किया है। अब तक मानसा और उनकी टीम ने तकरीबन 200 से ज्यादा ट्यूब हाउस, रेस्टोरेंट, कॉटेज, रिसॉर्ट्स और क्लिनिक देश के कई शहरों में बनाकर इन्स्टॉल करवा चुकी हैं। मानसा ने अपने स्टार्टअप के जरिए 200 से ज्यादा लोगों को रोजगार दिया और हर महीने लाखों की कमाई कर रही हैं।

सीवेज पाइप में लोगों को सोता हुआ देख आइडिया आया

24 साल की मानसा रेड्डी तेलंगाना के बोम्मकल की रहनेवाली हैं। मानसा ने लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी पंजाब से सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। लोगों की मदद करने के मकसद से मानसा अक्सर स्लम एरिया जाया करती थीं। वो बताती हैं, “मैंने वहां कई परिवार को देखा, जिनमें बच्चे- बूढ़े शामिल थे। उनके पास अपना घर नहीं था और वे स्टील की शीट और बड़े प्लास्टिक के कवर से बने अस्थाई घरों में रह रहे थे। ऐसे भी कुछ लोग थे जो शिपिंग कंटेनरों में, तो कुछ सीवेज पाइप में रहते थे। इन लोगों को देख मुझे सीवेज पाइप से घर बनाने का आइडिया आया, जिसे कम लागत में बनाया जा सके और जिसमें सभी बुनियादी सुविधाएं हों।”

मानसा ने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद 2021 में ‘समनवी कंस्ट्रक्शन्स’ नाम से अपने स्टार्टअप की शुरुआत की और कुछ ही महीनों में लोगों की जरूरत के अनुसार OPod हॉउस, रेस्टोरेंट, कॉटेज, रिसॉर्ट्स और क्लिनिक बनाना शुरू कर दिया।

8 महीने रिसर्च करने के बाद तैयार किया OPod हाउस

मानसा बताती हैं पॉड-स्टाइल यानी गोल आकार के छोटे घर बनाने का ख्याल, उन्हें जापान और हॉन्गकॉन्ग के कम लागत वाले घरों के बारे में, महीनों तक रिसर्च करने के बाद आया। हालांकि मानसा का कहना है कि जापान और हॉन्गकॉन्ग के OPod हाउस की तुलना में उनके हाउस कई मायनों में बेहतर हैं।

मानसा कहती हैं, “जापान के OPod हाउस ज्यादातर बैचलर लोगों की जरूरतों के हिसाब से बनाया जाता है, जबकि हम फैमिली और उनकी जरूरतों के हिसाब से घर बनाते हैं। हम इन OPod हाउस को बनाते समय कई बातों का ध्यान रखते हैं, खासकर तापमान का ताकि हर मौसम में रहने के लिए आरामदायक हो।”

दैनिक भास्कर से बात करते हुए मानसा बताती हैं, “इन सीवेज पाइपों को तेलंगाना के एक मैन्युफैक्चरर से स्पेशल आर्डर पर बनवाया जाता है। ये पाइप हमारी जरूरत के हिसाब से बड़े-छोटे सभी साइज में तैयार किये जाते हैं।”

अब तक 200 OPod हाउस बना चुके हैं

मानसा का स्टार्टअप इसी साल जनवरी में शुरू हुआ और बहुत ही कम समय में काफी लोगों को ये OPod हाउस पसंद आने लगा है। मानसा बताती हैं करीब 11 महीनों में ही लोगों की जरूरत के अनुसार 200 से ज्यादा OPod ट्यूब हाउस बनाए हैं। इन ट्यूब हाउस में बेडरूम, किचन, बाथरूम और डायनिंग एरिया सहित सभी जरूरी सुविधाएं हैं।

मानसा बताती हैं, “हमने शुरुआत 1BHK बनाने से की, जिसमें तीन लोगों का परिवार आराम से रह सकता है। फिर धीरे-धीरे बड़े घर बनाने लगे। अब तो कस्टमर की जरूरतों के मुताबिक से 1 BHK से लेकर 5BHK OPod ट्यूब हाउस बनाए जाते हैं। सिर्फ हाउस ही नहीं, बल्कि OPod रेस्टोरेंट, कॉटेज , रिसॉर्ट्स और क्लिनिक भी बनाए जा रहे हैं। जिन्हें तमिलनाडु, कर्नाटक, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश के कई शहरों में इन्स्टॉल किया गया है। हमारे पास और भी आर्डर आ रहे हैं जिन पर काम चल रहा है”

80 साल से ज्यादा है इन OPod हाउस की ड्यूरेबिलिटी

किसी भी घर को बनाते समय उनकी मजबूती का खास ध्यान रखा जाता है। OPod हाउस की मजबूती के बारे में पूछे जाने पर मानसा का कहना है कि इसकी ड्यूरेबिलिटी 120 साल है, जबकि उन्होंने अपने कस्टमर को OPod हाउस की गारंटी 80 साल दी है। मानसा कहती हैं, “आमतौर पर सीवेज पाइप बहुत मजबूत होते हैं और हम OPod हाउस के लिए जो सीवेज पाइप बनवाते हैं उनमें और भी कई खासियतें होती हैं, ये कई सालों बिना किसी रुकावट के चलेगा।

इस पाइप की ऊंचाई का भी खास ध्यान रखा गया है, ताकि किसी आदमी को अंदर खड़े होने के लिए ठीक से जगह मिल पाए। घर को गर्मी से बचाने और ठंडा रखने के लिए, घर के बाहर की सतह पर सफेद पेंट का इस्तेमाल किया। ऐसे में हमने सभी बातों का ध्यान रखा है, ताकि ये OPod हाउस कम से कम 80 साल चले। घर बेचने से बाद तकरीबन 1 साल तक हम फ्री में सर्विसिंग देते हैं और इसके बाद भी हम कस्टमर से जुड़े रहेंगे।”

ये भी देखे: गोल्डन जुबली पर नेशनल क्लब के सीनियर्स कानपुर में हुए इकट्ठे

5 लाख से शुरू किया और आज हर महीने लाखों की कमाई

मानसा OPod हॉउस प्रोजेक्ट की शुरूआत अपनी मां से पांच लाख रुपये उधार लेकर किये थे। इन पैसों से उन्होंने पाइप, घर के दरवाजे, खिड़की के फ्रेम, बाथरूम और बिजली की फिटिंग तथा बाकी जरूरत का सामान भी खरीदा।

मानसा कहती हैं, “मेरे परिवार ने मेरा बहुत साथ दिया और मां ने मुझे स्टार्टअप शुरू करने में आर्थिक मदद की। मैंने फर्स्ट लॉकडाउन के दौरान ही एक मैन्युफैक्चरर से बात कर एक लंबा सीवेज पाइप तैयार कराया। उन्होंने मुझे दो सीवेज पाइप को जोड़कर, एक बड़ा पाइप बनाकर दिया।

मानसा 1BHK फर्निश्ड हाउस 3 लाख में तैयार करती हैं और फिर लोगों की जरूरत के अनुसार साइज और सुविधा बढ़ाई जाती हैं और उसकी कीमत भी वैसे ही होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *