कांग्रेस की सरकार बनी तो आशा वर्कर्स को देंगे 10 हजार रुपए मानदेयःप्रियंका गांधी

0

न्यूज़ जंगल डेस्क,कानपुर : तीन दशक से यूपी की सत्ता से दूर कांग्रेस के लिए जमीन तलाश रही राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी एक के बाद एक चुनावी वादे कर रही है. समाज के हर तबके को साधने के लिए प्रियंका गांधी जी तोड़ मेहनत करती दख रही है. इसी क्रम में अब उन्होंने आशा और अनागबाड़ी वर्कर्स को साधने की कोशिश की है. उन्होंने कहा है कि अगर 2022 में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनती है तो आशा और आंगनबाड़ी वर्कर्स 10 हजार रुपये प्रति माह मानदेय मिलेगा।

दरअसल, शाहजहांपुर में मुख्यमंत्री से मिलने जा रही आशा वर्कर्स को पुलिस द्वारा रोकने पर प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर सरकार पर हमला बोलै। उन्होंने लिखा, ” यूपी सरकार द्वारा आशा बहनों पर किया गया एक-एक वार उनके द्वारा किए गए कार्यों का अपमान है. मेरी आशा बहनों ने कोरोना में व अन्य मौकों पर पूरी लगन से अपनी सेवाएं दीं. मानदेय उनका हक है. उनकी बात सुनना सरकार का कर्तव्य। आशा बहनें सम्मान की हकदार हैं और मैं इस लड़ाई में उनके साथ हूं।

गौरतलब है कि इससे पहले प्रियंका गांधी ने ऐलान किया था कि उनकी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देगी. उसके बाद उन्होंने 12वीं और स्नातक पास लड़कियों के लिए भी ऐलान किया. प्रियंका गांधी ने कहा है कि अगर कांग्रेस की सरकार बनती है तो इंटर पास लड़कियों को स्मार्टफोन और सनतक पास को इलेक्ट्रिक स्कूटी दिया जाएगा।

गौरतलब है कि इससे पहले प्रियंका गांधी ने ऐलान किया था कि उनकी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देगी. उसके बाद उन्होंने 12वीं और स्नातक पास लड़कियों के लिए भी ऐलान किया. प्रियंका गांधी ने कहा है कि अगर कांग्रेस की सरकार बनती है तो इंटर पास लड़कियों को स्मार्टफोन और सनतक पास को इलेक्ट्रिक स्कूटी दिया जाएगा।

दरअसल, प्रियंका गांधी चुनावी वायदों से यूपी में कांग्रेस की जड़ों को मजबूत करना चाहती हैं. यही वजह है कि वह आधी आबादी के साथ ही युवा महिला वोटरों को रिझाने में जुटी हैं. इसी क्रम में अब वे आशा वर्कर्स को भी साधने में लगी है. अब तो वक्त बताएगा कि प्रियंका के इन वायदों का जनता पर कितना असर पड़ता है।

यह भी देखेंःदिग्विजय सिंह बोले- प्रियंका गांधी ने जगाया नया विश्वास

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *