दिल्ली-NCR में प्रदूषण पर आज SC में सुनवाई, केन्द्र और राज्य को दी थी चेतावनी

0

न्यूज जगंल डेस्क, कानपुर : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में लगातार बढ़ते प्रदूषण को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी. यह सुनवाई सुबह करीब साढ़े दस बजे होगी. इससे पहले, कोर्ट की तरफ से केन्द्र और राज्यों को सोमवार को चेतावनी देते हुए उनसे कुछ ठोस उपाय करने को कहा गया था.

इधर, कमिशन फॉर एयर क्वालिटी मैनेजमेंट की वर्चुअल बैठक में भारत सरकार के पर्यावरण मंत्रालय के सचिव आरपी गुप्ता, कमीशन के चेयरमैन एमएम कुट्टी,  हरियाणा के मुख्य सचिव, डीजीपी प्रशांत अग्रवाल, राजस्थान के मुख्य सचिव, यूपी के मुख्य सचिव, दिल्ली सरकार के पीडब्ल्यूडी, यूडी, ट्रांसपोर्ट और इंडस्ट्री के अधिकारी मौजूद रहे. इस बैठक में औद्योगिक प्रदूषण, वाहनों से होने वाले प्रदूषण, निर्माण कार्य और तोड़फोड़ से होने वाले प्रदूषण और पॉवर प्लांट से निकलने वाले धुंए पर बात हुई. इसके अलावा, बैठक में जारी की गई गाइडलाइंस पर चर्चा हुई. इस बात पर भी चर्चा हुई की गाइडलाइंस का कड़ाई से पालन नहीं किया जा रहा है. बैठक पर बनी आम सहमति को आज सुप्रीम कोर्ट में रखा जाएगा. हालांकि, पंजाब की ओर से आज की बैठक में कोई शामिल नहीं हुआ.

गोपाल राय ने कहा- 2 महीने पहले से काम कर रही दिल्ली सरकार

इधर, दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली सरकार अभी से नहीं बल्कि 2 महीने पहले से काम कर रही है. उन्होंने आगे कहा कि कन्फ्यूजन केंद्र सरकार के हलफनामे में डेटा की है. उसी हलफनामे में एक जगह पराली का प्रदूषण में 4 प्रतिशत योगदान तो दूसरी जगह 40 प्रतिशत लिखा हुआ है. गोपाल राय ने कहा कि कंस्ट्रक्शन का काम अगले 3 दिन के लिए बंद किया गया है. मौका और हालात को देखते मजदूरों की स्थिति पर चर्चा कर के आगे निर्णय लिया जाएगा.

दिल्ली में वायु गुणवत्ता लगातार तीसरे दिन ‘बहुत खराब’ श्रेणी में

राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को एक्यूआई के 396 पर रहने के साथ ही, लगातार तीसरे दिन वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई. वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) सुबह के समय गाजियाबाद में 349, ग्रेटर नोएडा में 359, गुड़गांव में 363 और नोएडा में 382 था. वायु प्रदूषण के बारे में जानकारी देने वाले ‘समीर एप’ के अनुसार, दिल्ली में अधिकतर निगरानी केन्द्रों में एक्यूआई ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज किया गया. द्वारका सेक्टर-8, पटपड़गंज, अलीपुर, शादीपुर, डीटीयू और पंजाबी बाग जैसे कुछ स्थानों पर एक्यूआई 400 के पार रहने के साथ ही, ‘गंभीर’ श्रेणी में रहा. केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, दिल्ली का औसतन एक्यूआई 396 रहा.

ये भी पढ़े : Bigg Boss के नए टास्‍क ने VIP सदस्‍यों के बीच डाली फूट, क्‍या टूटेगा करण-उमर का दोस्‍ताना

दिल्ली की वायु गुणवत्ता में रविवार को थोड़ा सुधार देखा गया था, हालांकि तब भी वह ‘बहुत खराब’ श्रेणी में ही थी. दिल्ली का रविवार का औसतन एक्यूआई 330 था, जबकि उससे एक दिन पहले यह 473 था. एक्यूआई को शून्य और 50 के बीच ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने रविवार को कहा था कि उनके विभाग ने, वायु प्रदूषण से निपटने के लिए शहर सरकार द्वारा घोषित आपातकालीन उपायों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए एक अधिसूचना जारी की है. इस बीच, दिल्ली में मंगलवार को न्यूनतम तापमान 12.4 डिग्री सेल्सियस और सुबह साढ़े आठ बजे हवा में आर्द्रता का स्तर 88 प्रतिशत रहा.

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *