कोरोना वायरस का कहर तेज : पिछले 24 घंटे में कोविड के 3038 नए मामले, 7 लोगों की मौत

 भारत में कोविड-19 की एक और लहर आने का खतरा तेजी से बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में देश में कोविड के 3038 नए मामले सामने आए हैं और 7 लोगों की मौत हुई है. केवल यूपी में ही कोरोना के 500 से ज्यादा मामले सामने आए हैं. महाराष्ट्र में बढ़ते कोविड-19 मामलों के बीच सतारा प्रशासन ने सरकारी कर्मचारियों और अर्ध-सरकारी कार्यालयों, कॉलेजों और बैंकों में काम करने वालों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है

News Jungal media desk: देश में एक बार फिर से कोरोना का कहर तेजी से रफ्तार पकड़ने लगा है । और पिछले 24 घंटे में देश में कोविड-19 (COVID-19) के 3,038 नए मामले सामने आए हैं । पॉजिटिविटी रेट में बड़ा उछाल देखा गया है । और देश में इस समय कोविड-19 के 21,000 से ज्यादा एक्टिव मामले हैं. पिछले 24 घंटो में कोविड से देश में 7 मौतें दर्ज की गई हैं. कोरोना से पंजाब में 2 मौतें, उत्तराखंड में 1, महाराष्ट्र में 1, जम्मू में 1 और दिल्ली में 2 मौतें दर्ज की गईं हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार को अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार कोविड मामलों की कुल संख्या 4.47 करोड़ (4,47,29,284) पर पहुंच गई थी ।

इस समय एक्टिव मामले कुल संक्रमणों का 0.05 प्रतिशत हैं । और मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक कोविड-19 से ठीक होने वालों की राष्ट्रीय रिकवरी दर (Recovery Rate)  98.76 प्रतिशत दर्ज करी गई है । और कोरोना की बीमारी से उबरने वालों की संख्या 44177204 है। जबकि कोविड मरीजों की मृत्यु दर 1.19 दर्ज की गई. स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 220.66 करोड़ कोविड टीके की खुराक दी जा चुकी है । भारत में पिछले कुछ दिनों में कोविड के मामलों में बहुत तेज बढ़ोतरी देखी गई है । इसलिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने मनसुख मंडाविया ने बोला कि लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है ।

मंडाविया ने बोला कि ‘हमें सतर्क रहने की जरूरत है । लेकिन चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है । मौजूदा समय में देश में फैल रहे ओमी क्रोन के सब वैरीअंट  के संक्रमण की संख्या बढ़ी है मगर अस्पताल में भर्ती होने की संख्या नहीं बढ़ी है । मंडाविया ने कहा कि कोविड वायरस लगातार म्यटेट होता रहता है और भारत में अब तक इसके 214 वेरिएंट पाए गए हैं । उन्होंने बोला कि आईसीयू बेड, ऑक्सीजन की आपूर्ति और अन्य महत्वपूर्ण उपायों की व्यवस्था की गई है. मंडाविया ने कहा कि जरूरी मेडिकल तैयारियों की हर हफ्ते समीक्षा की जा रही है. मंत्री ने कहा कि यह भविष्यवाणी करना असंभव है कि आगे चलकर कोविड कैसे व्यवहार करेगा और अगर जो सब-वेरिएंट अभी कोविड-19 मामलों में उछाल ला रहे हैं । उतने खतरनाक नहीं हैं जिससे किसी तबाही की आशंका हो ।

Read also : Bihar Violence : हिंसा मामले में अब तक 173 लोग गिरफ्तार, नालंदा और सासाराम में इंटरनेट बंद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *