Horror places in India: भारत का सबसे डरावना गांव, जहां से रातोंरात गायब हो गए थे लोग, जानिए क्या है इसकी कहानी

0
kuldhara village facts

Horror places in India: राजस्थान के जैसलमेर जिले में एक ऐसा गांव है जो अचानक रातों-रात खाली हो गया | बताया जाता है कि जैसलमेर से लगभग 20 किलोमीटर दूर स्थित कुलधरा गांव (kuldhara village in hindi) में भूतों का बसेरा है।

Horror places in India(kuldhara village)

भारतीय इतिहास में ऐसी बहुत सारी घटनाएँ हैं जिनके बारे में आप नही जानते है। इन घटनाओं से जुड़े रहस्यों के बारे में जानकर आपको काफी हैरानी हो सकती है। ऐसा ही एक रहस्य हैं भारत के सबसे डरावने गांव कुलधरा का | जहाँ लोग जाने से भी डरते हैं। इस गांव में बेहद पुराने घर बने हुए हैं, जो अब खंडहर में तब्दील हो चुके हैं।

kuldhara haunted place in India

कुलधरा गांव का रहस्य(Mystery of kuldhara village)

राजस्थान का कुलधरा (Horror places in India) गांव देश के भुतहा स्थानों में गिना जाता है।​​ बताया जाता है कि करीब दो साल पहले लोग रातों-रात इस गांव को छोड़कर चले गए थे | इसके बाद से इस गांव में कोई रहने के लिए नहीं आया और यह गांव वीरान हो गया। इस गांव को श्रापित भी कहा जाता है।

यह गांव एक खौफनाक घटना से जुड़ा है | जर्जर मकान आज भी उस घटना के गवाह हैं । स्थानीय निवासियों का कहना है कि यहाँ अक्सर असाधारण गतिविधियां होती रहती हैं, यही कारण है कि लोग यहाँ गलती से भी नहीं आते हैं।

कुलधरा गाँव की कहानी

कुलधरा गांव की कहानी(Story of kuldhara village)

कुलधरा गांव कभी बेहद खूबसूरत था, लेकिन एक घटना ने इस गांव को वीरान जगह में बदल दिया । कुलधरा गांव की ऐसी हालत पहले कभी नहीं थी | कहा जाता है कि यह गांव पहले काफी खूबसूरत हुआ करता था ।​ करीब 200 साल पहले कुलधरा गांव में पालीवाल ब्राह्मणों की अच्छी खासी आबादी थी |

साल 1825 में अचानक लोगों ने इस गांव को छोड़ दिया । ऐसा माना जाता है कि जब लोगों ने यह गांव छोड़ा तो उन्होंने श्राप दिया कि जो भी इस गांव में बसने की कोशिश करेगा वह पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा |

कुलधरा गांव का इतिहास(Kuldhara village history in hindi)

पालीवाल ब्राह्मण पाली में रहते थे | लेकिन 11 वीं शताब्दी में वे पाली से विस्थापित हो गए और राजस्थान के विभिन्न स्थानों जैसे जोधपुर , जैसलमेर , साथलमेर , बीकानेर आदि में बसने लगे। उस समय, कुलधरा गांव बहुत समृद्ध था | उस समय गांव में
कभी बड़ी-बड़ी हवेलियां हुआ करती थीं।

किंवदंती के अनुसार, राज्य के मंत्री सलीम सिंह की नजर गांव के एक ब्राह्मण की बेटी शक्ति मैया पर थी।​ वह उससे शादी करना चाहता था, वहीं दूसरी ओर गांव का ब्राह्मण अपनी बेटी की शादी दूसरे समुदाय में नहीं करना चाहता था | इसके बाद, सलीम सिंह ने ग्रामीणों को धमकी दी कि यदि उन्होंने शक्ति मैया के साथ उसकी शादी की व्यवस्था नहीं की , तो वह पूरे गांव को नष्ट कर देगा।

salim singh

धमकी के बाद गांव के पालीवाल ब्राह्मणों ने पंचायत में फैसला किया कि वह इस गांव को छोड़ देंगे। उसके बाद सभी ब्राह्मण गांव को वैसा ही छोड़कर रातों रात वहाँ से चले गए। जाते वक्त उन्होंने यह श्राप भी दिया कि जो कोई भी इस गांव में बसने की कोशिश करेगा। वह पूरी तरह बर्बाद हो जाएगा। 

दूसरी मान्यता के मुताबिक, गांव वालों ने सलीम सिंह द्वारा ज्यादातर मात्रा में कर वसूले जाने की वजह से परेशान होकर गांव से चले गए। हालांकि तीसरी वजह वैज्ञानिक भी लगती है, उसके मुताबिक, पालीवाल ब्राह्मणों द्वारा इस गांव को छोड़ने की मुख्य वजह सूखा और गांव में पानी के जलस्तर का नीचे गिरना था। लेकिन आज भी यह गांव रहस्यमयी है। 

Read also: आज रिलीज हुई शाहिद-कृति की ‘तेरी बातों में ऐसा उलझा जिया’, लोगों ने दी प्रतिक्रया, कही ये बातें…

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *