Summer Diet Plan: बदलते मौसम में खानपान भी बदलें, बच्चों से बुजुर्गों तक को दें ऐसा आहार

0
santulit ahar

Summer Diet Plan : आजकल की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में सेहत के प्रति बहुत सजग रहने की आवश्यकता है। ऐसे में दिनचर्या में व्यायाम और आहार में पोषक तत्वों को शामिल करके आप अपनी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर शरीर को स्वस्थ रख सकती हैं।

Summer Diet Plan

आमतौर पर गर्मियों के मौसम में तापमान काफी बढ़ जाता है, जिस वजह से उल्टी, दस्त और डिहाइड्रेशन जैसी कई समस्याएं उत्पन्न होती हैं, इसलिए इस मौसम में (Summer Diet Plan)हल्का और आसानी से पचने वाला भोजन करना चाहिए। ठंडे तरल पदार्थों का सेवन करना अधिक लाभकारी होता है।

आपको सीजनल डाइट फॉलो करनी चाहिए, क्योंकि इसमें सेहत को फायदा पहुंचाने वाले विटामिन, मिनरल, एंजाइम, एंटीऑक्सीडेंट्स और फाइटोकेमिकल्स शामिल होते हैं।

इसके अलावा सीजनल फूड्स में शरीर की प्राकृतिक सफाई और उपचार करने की क्षमता भी होती है। डिब्बाबंद फूड सामग्री का सेवन स्वास्थ्य के लिए हमेशा ही हानिकारक होता है, इसलिए अपने भोजन में ताजा एवं घर पर बने खाद्य पदार्थों को शामिल करें और बासी भोजन बिल्कुल न खाएं। इसके ही साथ कुछ जरूरी बातों का भी रखें ध्यान |

हाइड्रेटेड रहने की जरूरत (Benefits Of Hydration) :

hydration diet

गर्मियों में उच्च तापमान के कारण हमारे शरीर से पानी अधिक मात्रा में निकल जाता है, जिससे डिहाइड्रेशन का खतरा बढ़ जाता है।आप हाइड्रेटेड रहने लिए तरल पदार्थों में (Summer Diet Plan) नींबू की शिकंजी, लस्सी, ठंडाई, नारियल पानी, आम पन्ना एवं बेल के शरबत का सेवन कर सकते है |

घर में बने ये पेय आपके शरीर में विटामिन्स का उचित स्तर बनाने में भी मदद करते हैं। इसके साथ ही आप घर से बाहर निकलते समय पानी पीकर ही निकलें |

फल-सब्जियों का सेवन (Habit of eating fruits and vegetables) :

गर्मियों में हमें ज्यादा पानी की जरूरत होती है और फल एवं सब्जियां भी इस जरूरत की भरपूर आपूर्ति करती हैं। इसलिए इस मौसम में अधिक फल और सब्जियों (Summer Diet Plan)का सेवन करना चाहिए।

fruits Images

फलों में तरबूज, ककड़ी, केला, संतरा, आम और नारियल पानी का सेवन अच्छा रहता है। वहीं, सब्जियों में टमाटर, गाजर, शिमला मिर्च आदि शरीर को हाइड्रेट रखने के साथ ही जरूरी पोषण तत्व भी प्रदान करती हैं।

संतुलित आहार (Santulit aahar Chart) :

गर्मियों में हमें अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है, ताकि हम अपनी दैनिक गतिविधियों को पूरा कर सकें। इसके लिए ऊर्जावान पेय और संतुलित आहार का सेवन करना जरूरी है। बेहतर है कि दिन भर के आहार को समय अनुसार भागों में बांट लें और सही समय पर भोजन करें, जिससे आपको आवश्यकतानुसार दिन भर पर्याप्त ऊर्जा मिलती रहेगी।

ahar yojna

ज्वार, जौ और रागी जैसे मोटे अनाज ऊर्जावान और पाचनतंत्र को बेहतर बनाने में लाभकारी हैं। इसमें रागी और जौ गर्मी में शरीर को ठंडा रखते हैं। इन अनाजों में विटामिन्स, पॉलीफेनॉल, फाइटोकेमिकल्स जैसे महत्वपूर्ण यौगिक और डाइट्री फाइबर जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में और ग्लाइसेमिक इंडेक्स बेहद कम होता है, जो ब्लड शुगर के लिए आदर्श माना जाता है।

चने या सत्तू का सेवन शरीर को ठंडा रखता है। इस तरह ये अनाज कई बीमारियों से शरीर का बचाव कर रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत बनाने में सहयोग देते हैं |

दूध से बनी चीजें (milk made products) :

गर्मियों में ठंडा दूध और दूध से बनी चीजें, जैसे कि दही, छाछ, लस्सी का सेवन जरूर करती रहें। ये आपके शरीर को ठंडा रखने के साथ-साथ अच्छे बैक्टीरिया कोबढ़ाकर इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। तेज धूप से शरीर में पानी और नमक की कमी हो सकती है, जिससे डिहाइड्रेशन, थकावट और लो ब्लड प्रेशर जैसी परेशानियां हो जाती हैं।

milk made product

गर्मियों में हर उम्र वर्ग के लोगों को अपना ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि तापमान और गर्मी बढ़ने से हमारा शरीर तनाव में चला जाता है, जो कि चिड़चिड़ेपन, अनिद्रा, स्किन सेंसिटिविटी और विटामिन-मिनरल की कमी को बढ़ा देता है। आपको विभिन्न उम्र के लोगों के आहार में क्या बदलाव करने चाहिए, इसके बारे में पूरी तरह से पता होना चाहिए।

बच्चो के लिए पोषण (nutrition tips for kids) :

छोटे बच्चों के लिए उपयुक्त प्रोटीन के स्रोत दूध, दही, पनीर, अंडा और दाल आदि ही होते हैं, इसलिए उनकी डाइट में इनको जरूर शामिल करें। साथ ही उन्हें ड्राई फ्रूट्स भी जरूर खिलाती रहें, जिससे उन्हें भरपूर मात्रा में न्यूट्रिएंट्स मिल सकें।

nutrion for child

बच्चों को सेहतमंद अनाज, जैसे कि दलिया, चावल, रोटी और खासतौर से मोटे अनाज से बने खाद्य पदार्थों का भी सेवन छोटी उम्र से ही कराएं, क्योंकि बढ़ती उम्र में शरीर को पर्याप्त पोषक तत्वों का मिलना उनके मानसिक और शारीरिक विकास के लिए जरूरी माना जाता है।

किशोर/युवा और अधेड़ उम्र के लिए पोषण (HealthyTips for Teens and Young Adults):

प्रोटीन मांस, मछली, अंडे, दाल, सोया, मिल्क प्रोडक्ट, जैसे कि दही और पनीर किशोर को जरूर दें। इससे किशोरो के शरीर में प्रोटीन की कमी नहीं होगी। इसके अलावा पोषण तत्वों की पूर्ति के लिए हरी-भरी पत्तेदार सब्जियां और फलों को शामिल करें। फाइबर और विटामिन के लिए अनाज, जैसे कि ब्राउन राइस, गेहूं और अन्य मोटे अनाज, जैसे कि ज्वार, बाजरा, जौ, रागी आदि को डाइट में शामिल करना सबसे ज्यादा जरूरी है।

वृद्धों के लिए संतुलित आहार (Nutrion for Older adults) :

वृद्ध उम्र के लोगों में प्रोटीन की पूर्ति के लिए प्रोटीन स्रोतों को शामिल करें, जैसे कि स्किम्ड दूध, दही, रायता, छाछ, पनीर, अंडे और बिना छिलके वाली दालें। विटामिन, मिनरल्स और फाइबर के लिए अनेक प्रकार के सीजनल फल और हरी सब्जियां शामिल करें और अनाजों को शामिल करें, जैसे कि चावल, दलिया और अन्य अनाज।

nutrion for senior citizen

इनके लिए रात का भोजन विशेष रूप से हल्का और सुपाच्य होना चाहिए। यदि हो सके तो इस समय सप्ताह में दो-तीन बार इन्हें खिचड़ी का सेवन जरूर कराएं।किशोर/युवा और अधेड़ उम्र गर्मियों के मौसम में मसालेदार चीजों का सेवन कम करना चाहिए। भारी, तले हुए, एसिडिक और बासी खाना न खाएं। बाजार में बिकने वाली चाट-चटनी, खट्टे पदार्थ और खोये के व्यंजन अक्सर फूड पॉइजनिंग का प्रमुख कारण होते हैं।

इसके साथ ही गर्मी के मौसम में शरीर को डिहाइड्रेशन से बचाने के लिए चाय, कॉफी या अल्कोहल के अतिरिक्त सेवन से बचें और बाजार में मिलने वाले पैकेट बंद शुगर मिक्स जूस से भी दूर रहें। इस प्रकार गर्मियों में सही आहार का चयन करके आप अपने जीवन को स्वस्थ और ऊर्जावान बना सकती हैं।

सेहत से जुडी ऐसी और जानकारी के लिये जुड़े रहें News Jungal से जुड़े रहें |

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *