Monday , February 26 2024
Breaking News
Home / अन्य / शोएब मलिक की फिटनेस के कायल हुए फैंस , क्या है राज ?

शोएब मलिक की फिटनेस के कायल हुए फैंस , क्या है राज ?

न्यूज जंगल डेस्क। कानपुर। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और स्टार क्रिकेटर शोएब मलिक 39 साल के हैं, लेकिन जिस तरह से उन्होंने स्कॉटलैंड के खिलाफ मैच में 18 गेंद पर पचासा जड़ा, उससे उनकी फिटनेस का अंदाजा लगाया जा सकता है। मलिक को स्कॉटलैंड के खिलाफ 18 गेंद पर ताबड़तोड़ 54 रन बनाने के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। मैच के बाद उन्होंने कहा कि फिटनेस के प्रति उनका जुनून ही उन्हें यहां तक लेकर आया है। मलिक पिछली सदी से इंटरनैशनल क्रिकेट खेल रहे हैं। उनकी टीम के कुछ साथियों का तब जन्म भी नहीं हुआ था, लेकिन उन्हें पाकिस्तानी टीम के सबसे फिट खिलाड़ियों में आंका जाता है और वह अपने दम पर मैच जीतने की काबिलियत भी रखते हैं।

मलिक ने मैच के बाद कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो जब मैं आइना देखता हूं तो मेरे अंदर खुद को फिट रखने का जुनून पैदा होता है और सबसे अहम यह है कि मैं आज भी क्रिकेट का लुत्फ उठा रहा हूं। इससे मदद मिल रही है और आखिर में टीम को भी इससे फायदा मिलता है।’ उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि अगर आप फिट रहना चाहते हैं तो आपको हर दिन प्रैक्टिस करनी होगी और मैं यही कर रहा हूं।’ मलिक ने कहा, ‘मैं पक्के तौर पर नहीं कह सकता कि मैं एक साल या दो साल और खेलूंगा। अभी एक अहम टूर्नामेंट चल रहा है और मैं इस बारे में नहीं सोच रहा हूं।’

ये भी देखें – परमाणु हथियारों का जखीरा बढ़ाने के साथ जैविक हथियार बनाने में भी जुटा चीन

पाकिस्तान सुपर 12 के ग्रुप-2 में टॉप पर रहा और सेमीफाइनल में उसका सामना गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया से होगा। आईसीसी चैंपियन्स ट्रॉफी 2009 के बाद आईसीसी के किसी टूर्नामेंट में अपना पहला अर्धशतक जमाने वाले मलिक ने कहा, ‘निश्चित तौर हमने ऑस्ट्रेलिया को देखा है, जिस तरह से वे खेल रहे हैं। वे वास्तव में अच्छी क्रिकेट खेल रहे हैं। हम भी अच्छा खेल रहे हैं, लेकिन निश्चित रूप से यह दोनों टीमों के लिए कड़ी चुनौती होगी।’ उन्होंने कहा, ‘अभी सेमीफाइनल में कुछ दिन बचे हैं इसलिए हम इसके लिए रणनीति तैयार करेंगे।’

मलिक टी20 वर्ल्ड कप के लिए पाकिस्तान की शुरुआती 15 सदस्यीय टीम का हिस्सा नहीं थे, लेकिन सोहैब मकसूद के चोटिल होने के कारण बाहर होने से उन्हें टीम में लिया गया। उन्होंने कहा, ‘जब पहली टीम घोषित की गई तो मैं कैरेबियाई प्रीमियर लीग में खेल रहा था। टीम में मेरा नाम नहीं था। बेशक मुझे बुरा लगा। मैं बहुत निराश था। मैंने बहुत सी ऐसी टीमें देखी हैं जिनमें मेरा नाम नहीं था, लेकिन जब आप वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा नहीं होते हैं तो दुख होता है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *