Monday , March 4 2024
Breaking News
Home / अन्य / कौन है भारत की सबसे लंबी बास्केटबॉल खिलाड़ी, जानिए इनके जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें…

कौन है भारत की सबसे लंबी बास्केटबॉल खिलाड़ी, जानिए इनके जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें…

महिला खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलों में दमदार प्रदर्शन कर रही हैं और ये सिलसिला लगातार जारी है। इन्हीं में से एक हैं पूनम चतुर्वेदी, जो अपनी हाइट की वजह से काफी चर्चा में रहती हैं।

News jungal desk: आज के समय में महिलाएं भी पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर बराबर चल रही हैं। वे हर वो एक काम कर रही हैं, जो पुरुष किया करते हैं और इसी कारण महिलाएं कई क्षेत्रों में अपना परचम लहरा चुकी हैं। इन्हीं में से एक है खेल।

जैसा कि आपको मालूम होगा महिला खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलों में दमदार प्रदर्शन कर रही हैं और ये सिलसिला अभी तक लगातार जारी है। इसी कड़ी में एक महिला खिलाड़ी हैं, जिनका नाम पूनम चतुर्वेदी है और वे बास्केटबॉल की खिलाड़ी हैं।

आखिर कौन हैं पूनम चतुर्वेदी?

दरअसल, पूनम चतुर्वेदी एक बास्केटबॉल खिलाड़ी हैं। पूनम कानपुर की रहने वाली हैं। अपने खेल की ट्रेनिंग उन्होंने भिलाई स्थित स्पोर्ट्स हॉस्टल से ली थी । वहीं, पूनम चतुर्वेदी ने अपने बास्केटबॉल करियर की शुरुआत वर्ष 2011 में की।

इससे पहले वे 2010 में छत्तीसगढ़ में यूथ नेशनल में शामिल हुई थीं। उस दौरान उनके ट्रेनर ने उनकी हाइट (उनकी हाइट 7 फीट है) पर ध्यान देते हुए पूनम के पिता से बात की, जिसके बाद साल 2011 में पूनम चतुर्वेदी छत्तीसगढ़ की टीम का हिस्सा बनीं थी।

ऐसे समय का भी किया था सामना

आपको बता दे कि अपने खेल के दौरान साल 2013 में पूनम को ये पता चला कि उन्हें ब्रेन ट्यूमर है। ऐसे में पूनम अपना ऑपरेशन नहीं करवाना चाहती हैं। वहीं, बीमारी के कारण उनकी लंबाई भी आसामान्य है। दूसरी तरफ आयुर्वेदिक दवाओं के जरिए पूनम अपना इलाज करवा रही हैं।

खेल के साथ सरकारी अफसर भी हैं पूनम

जहां एक तरफ पूनम चतुर्वेदी बास्केटबॉल खिलाड़ी हैं, तो वहीं दूसरी तरफ वे हावड़ा में एक वरिष्ठ कलर्क के पद पर भी तैनात हैं। आपको बता दे कि नौकरी करने के साथ ही वे अपने खेल को भी पूरा समय देती हैं। अक्सर उनकी लंबाई को लेकर मजाक बनते रहे, लेकिन उन्होंने न कभी अपना मनोबल कम होने दिया और कभी पीछे मुड़कर भी नही देखा।

Read also: 142वीं जयंती पर याद किए गए बाबू नारायण प्रसाद अरोड़ा, स्मारक बनाने की मांग उठी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *