Monday , March 4 2024
Breaking News
Home / अन्य / मूंगफली नाश्ते में खाने से दिनभर रहेंगे तरोताजा, बालों के लिए भी है लाभकारी

मूंगफली नाश्ते में खाने से दिनभर रहेंगे तरोताजा, बालों के लिए भी है लाभकारी

 News jungal desk: सर्दियों के मौसम में लोगों को ड्राई फ्रूट्स Dry Fruits खाना ज्यादा पसंद चाहिए. उसका कारण है कि इस मौसम में शरीर को एक्टिव और गरम करने के लिए अधिक एनर्जी चाहिए. मूंगफली में वह सब कुछ मौजूद है, जो आपके शरीर को चाहिए. यह प्रोटीन से भरपूर है और हार्ट को स्मूद रखती है. मूंगफली Groundnut को नाश्ते में खाएंगे तो तरो-ताजा महसूस करेंगे. इसे बालों के लिए भी लाभकारी माना जाता है. इसके फायदे जानकर आप हैरान रह जाएंगे.

मूंगफली को ड्राई फ्रूट माना जाता है, लेकिन यह अखरोट, काजू या बादाम प्रजाति की नहीं है.

मूंगफली के खास गुण कर देंगे हैरान

1. फूड एक्सपर्ट व डायटिशियन का मानना है कि मूंगफली को सुबह नाश्ते में खाया जाए तो आप मानसिक व शरीरिक तौर पर तरो-ताजा महसूस करेंगे. इसे सुबह सलाद के साथ भी खाया जाए तो गुण और बढ़ जाएंगे. असल में जब हम नींद से जागते हैं तो कई घंटे तक भूखे रहते हैं, इसके लिए लिए तुरंत कैलोरी की जरूरत होती है मूंगफली इस मांग को पूरा करती है और शरीर को ऊर्जा से भर देती है. ऐसा भी माना जाता है कि मूंगफली में पाया जाने वाला नियासिन ( विशेष विटामिन) दिमागी सिस्टम को तो कूल रखता ही है, साथ ही मेमोरी पावर को भी बढ़ाने में मदद करता है. आयुर्वेद मानता है कि मूंगफली त्वचा विकार, किडनी और सर्दी-खांसी जैसी बीमारियों में फायदेमंद है.

मूंगफली में पाए जाने वाले विशेष यौगिक और ऑयल बालों के लिए भी लाभकारी माने जाते हैं. इसमें अमीनो एसिड और बहुत सारा प्रोटीन भी होता है, जो बालों को घना व मजबूत बनाने में मदद करता है. मूंगफली का सेवन स्किन के लिए भी लाभकारी है जो उसे धूप से बचाते हैं और रुखा नहीं होने देते. मूंगफली में मौजूद फैट स्किन को साफ करने में तो मदद करता ही है

जानें मूंगफली का इतिहास और सफर

भारत के लिए मूंगफली विदेशी ‘मेवा’ है, इसके बावजूद खूब खाई जाती है. फूड हिस्टोरियन्स के अनुसार 1500 ईसा पूर्व में दक्षिण अमेरिका में मूंगफली की उत्पत्ति सबसे पहले हुई. भारत सरकार के कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA) का भी मानना है कि मूंगफली को पहली बार पराग्वे की घाटियों में पोषित किया गया था और यहां इसकी खेती की गई थी. भारत में सत्रहवीं शताब्दी में इसे स्पेनिश लाए थे. सबसे पहले इसकी खेती तमिलनाडु व आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में की गई. अमेरिका के नेशनल पीनट बोर्ड के अनुसार अब मूंगफली के उत्पादन में भारत पूरे विश्व में दूसरे नंबर पर है. चीन पहले नंबर पर बना हुआ है.

यह भी पढ़े : शीतकालीन सत्र से पहले प्रधानमंत्री मोदी बोले, ‘पराजय का गुस्सा संसद में मत उतारना’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *