भरतपुर-भिवानी कांड के आरोपी कौन हैं, जली गाड़ी में मरे दो लोगों का बैकग्राउंड क्या है?

पुलिस ने कहा कि मृतकों के परिवार के सदस्यों को बुलाया गया और उन्होंने वाहन की पहचान की. कानूनी औपचारिकताओं के बाद शव उन्हें सौंप दिए गए. पुलिस ने कहा कि राजस्थान के गोपाल गढ़ थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 365 समेत संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है ।

News Jungal desk : हरियाणा के भिवानी जिले में एक वाहन से राजस्थान निवासी दो लोगों के जले हुए शव मिले हैं । और पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दिया है कि लोहारू (भिवानी) के पुलिस उपाधीक्षक जगत सिंह ने फोन पर बताया कि मृतकों की पहचान नासिर (25) और जुनैद उर्फ ​​जूना (35) के रूप में हुई है . और दोनों राजस्थान के भरतपुर जिले की पहाड़ी तहसील के घाटमीका गांव के रहने वाले थे ।

पुलिस ने बोला कि बीते 15 फरवरी को दोनों का अपहरण कर लिया गया था । और उन्होंने बताया कि लोहारू इलाके में एक ग्रामीण ने बृहस्पतिवार को पुलिस को फोन कर जले हुए वाहन के बारे में बताया था । घटनास्थल पर पहुंची पुलिस को 4 पहिया वाहन में दो जले हुए शव मिले थे । पुलिस ने कहा कि वाहन दोनों लोगों के परिचित व्यक्ति का था । और उन्होंने कहा कि वाहन के चेसिस नंबर से वाहन मालिक की पहचान आसीन खान के रूप में हुई है ।

राजस्थान के गोपाल गढ़ थाने में मामला दर्ज
पुलिस ने बोला कि कथित अपहरणकर्ता दोनों को यहां लेकर आए और फिर आधी रात के बाद वाहन (महिंद्रा बोलेरो) में आग लगा दी गई है । पुलिस ने बोला कि मृतकों के परिवार के सदस्यों को बुलाया गया और उन्होंने वाहन की पहचान करी है । कानूनी औपचारिकताओं के बाद शव उन्हें सौंप दिए गए है । पुलिस ने बोला कि राजस्थान के गोपाल गढ़ थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 365 समेत संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है ।

डीएनए टेस्ट से की जाएगी पहचान की पुष्टि
पुलिस अभी भी यह जानने की कोशिश कर रही है कि क्या नर कंकाल नासिर और जुनैद के ही हैं । और भरतपुर के पुलिस महानिरीक्षक गौरव श्रीवास्तव ने घटना के बारे में बोला कि , ‘कार में दो अज्ञात लोगों के जले हुए शव मिले हैं. यह पता लगाने के लिए कि क्या दोनों वही व्यक्ति हैं जिनका अपहरण किया गया था । और हमारी टीम परिवार के सदस्यों के साथ मौके पर गई है । पोस्टमॉर्टम और डीएनए विश्लेषण के बाद, उनकी पहचान को सत्यापित किया जाएगा ।

मौतों में गोरक्षा का ऐंगल होने की जांच
पुलिस ने बोला कि वे इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या इन मौतों में गोरक्षा का ऐंगल भी शामिल है । और श्रीवास्तव ने बोला कि जुनैद के खिलाफ गौ तस्करी के पांच मामले दर्ज हैं, जबकि नासिर का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है. नासिर और जुनैद के अपहरण के आरोपी पांच लोगों में मोनू मानेसर, लोकेश सिंघिया, रिंकू सैनी, अनिल और श्रीकांत हैं. मोनू मानेसर दक्षिणपंथी संगठन बजरंग दल के सदस्य हैं. सभी पांचों आरोपी कथित रूप से गो रक्षक होने का दावा करते हैं ।

Read also : महाशिवरात्रि पर्व कल 18 फरवरी को मनाया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *