सीएम योगी के अगुवाई में गोरक्षपीठाधीश्वर की विजयादशमी आराधना हुई शुरू

0
Cm yogi adityanath royal ride will come out in gorakshpeeth vijayadashmi  procession nodelsp - सामाजिक सौहार्द की मिसाल है गोरक्षपीठ की दशहरा  शोभायात्रा, CM योगी की निकलेगी शाही ...

न्यूज जंगल डेस्क,कानपुरः मुख्यमंत्री और गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को मां सिद्धिदात्री की पूजा-अर्चना सम्पन्न करने के बाद शुक्रवार की सुबह से ही नाथ परंपरा के मुताबिक होने वाली विजयादशमी आराधना की शुरुआत की। शुरुआत श्रीनाथ जी के विशिष्ट पूजन से हुई। नाथ पंथ के विशिष्ट वाद्ययंत्र नागफनी, डमरू और शंख की गूंज के बीच विधि-विधान के साथ उन्होंने पहले श्रीनाथ जी और फिर मंदिर में मौजूद सभी देव-विग्रहों की पूजा-अर्चना कर आरती उतारी और भोग लगाया।

पूजन का सिलसिला उस शक्तिपीठ से शुरू हुआ, जहां नवरा़त्र के दौरान पूरे नौ दिन मां भगवती यानी आदिशक्ति की आराधना हुई थी। मुख्यमंत्री ने मां आदिशक्ति के दरबार में हाजिरी लगाई। उसके बाद गाजे-बाजे की धुन की गूंज के बीच विशिष्ट पूजन के लिए श्रीनाथ जी के दरबार में पहुंचे। आधे घंटे से ज्यादा समय तक लगातार उन्होंने परंपरागत शैली में मोरपंख हिलाकर और घंटी बजाकर श्रीनाथ जी की पूजा की।

उसके बाद वह मंदिर परिसर में मौजूद सभी देव विग्रहों के दरबार में भी गए और उन्हें भी विजयादशमी के पावन अवसर पर वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पूजा। सभी देव विग्रहों को भोग लगाकर उन्होंने श्रीनाथ जी की विशिष्ट पूजा सम्पन्न की। इसी क्रम में मुख्यमंत्री मंदिर की गोशाला में भी गए और वहां गो-सेवा की। गोशाला में उन्होंने गाय और बछड़ों की पूजा की और उन्हें भी भोग लगाया। इस दौरान नागफनी, शंख और डमरू की धुन से पूरा मंदिर परिसर गुंजायमान रहा।

गोरखनाथ मंदिर में विजयादशमी का दूसरा आयोजन तिलकोत्सव है, जो दोपहर एक बजे से शुरू होकर तीन बजे तक चलेगा। इस दौरान संत, योगी और भक्त गोरक्षपीठाधीश्वर को तिलक लगाकर उनका आशीर्वाद लेंगे। शााम चार बजे शस्त्र पूजन के बाद भव्य विजयशोभा यात्रा निकलेगी। गोरक्षपीठाधीश्वर विजयरथ पर सवार होकर मानसरोवर मंदिर पहुंचेंगे और वहां वह शक्ति आराधना करने के बाद रामलीला मैदान में भगवान राम का तिलक करेंगे। रामलीला के मंच से मुख्यमंत्री का संबोधन भी होगा, जिसमें वह विजयादशमी का महत्व बताते हुए प्रदेशवासियों की पर्व की बधाई देंगे। देर शाम मंदिर परिसर में सामाजिक समरसता कायम रखने के लिए सहभोज का कार्यक्रम आयोजित है।

गोरखनाथ मंदिर से निकलने वाले विजय शोभायात्रा की सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर गुरुवार को पूरे दिन गोरखनाथ मंदिर में बैठक चली। शाम को एडीजी जोन व कमिश्नर ने फोर्स के साथ फ्लैग मार्च कर सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लिया।शोभायात्रा में गोरक्षपीठाधीश्वर एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल होते हैं।इस बार शोभायात्रा एटीएस कमांडो और आरएएफ के घेरे में निकलेगा। गोरखनाथ मंदिर से मानसरोवर मंदिर तक निकलने वाली शोभायात्रा के रथ पर गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे।जिसकी सुरक्षा में एएसपी, आठ सीओ, 13 इंस्पेक्टर, 55 दारोगा, 350 सिपाही, 70 महिला सिपाही लगाए गए हैं।रथ के आसपास एटीएस कमांडो और आरएएफ के जवान मौजूद रहेंगे।रास्ते में पडऩे वाले मकान की छत पर भी पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है।सीसी कैमरा और ड्रोन से भी शोभायात्रा की निगरानी की जाएगी।

यह भी देखेंःIPL 2021 Final से पहले गौतम गंभीर ने की धोनी की तारीफ,कही यह बात

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *