कई मोहल्ले, सड़कों और चौराहों पर छाया हुआ है अंधेरा

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर शहर में 16.50 परसेंट स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी हैं। नगर निगम ने लाइटों का सर्वे कराया तो पता चला कि 14 हजार स्ट्रीट लाइट 6 महीनों से बंद पड़ी हैं। इनको ठीक करने का जिम्मा ईईएसएल (एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लि.) के पास है। कंपनी ने काम करना बंद कर दिया है। इससे कई मोहल्ले, सड़कों और चौराहों पर अंधेरा छाया हुआ है। नगर आयुक्त शिवशरणप्पा जीएन ने कंपनी को नोटिस दिया है।

नगर निगम खरीद रहा लाइट
ईईएसएल कंपनी से परेशान होकर नगर निगम अब खुद ही करीब 3 करोड़ रुपए से 1100 एलईडी स्ट्रीट लाइट और 450 हाईमास्ट लाइट खरीद रहा है। सभी 110 वार्डों में 10-10 लाइट पार्षद के मुताबिक लगाई जाएंगी। लेकिन पूरे शहर में लगी 14 हजार स्ट्रीट लाइट को बदलने के लिए संकट खड़ा हो गया है। दीपावली से पहले लाइट नहीं लगी तो लोग सड़कों पर अंधेरे में ही त्योहार मनाने को मजबूर होंगे।

हाईमास्ट पोल रहेंगे खाली
नगर निगम लाइटिंग प्रभारी व अधिशाषी अभियंता आरके पाल ने बताया कि शहर में 114 हाईमास्ट पोल लगाए गए हैं। प्रत्येक में हैवी वॉट की 4 लाइट लगती हैं। ऐसे में 576 एलईडी लाइट लगाई जानी है। ये लाइटें ईईएसएल को ही लगानी है। क्योंकि नगर निगम ने पुरानी खराब पड़ी हाईमास्ट लगाने के लिए ही खरीदी हैं। कंपनी ने लाइट लगाना शुरू नहीं किया तो कार्रवाई भी की जाएगी।

ये भी देखे: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की हालत स्थिर,एम्स में है भर्ती

इन इलाकों में ज्यादा स्ट्रीट लाइट खराब
गोविंद नगर, विजय नगर, काकादेव, बगाही, किदवई नगर, दबौली, पनकी, जरौली, कर्रही, बर्रा, विश्वबैंक, अफीमकोठी, श्यामनगर, रोशन नगर, कल्याणपुर समेत अन्य इलाके।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *