लगातार बढ़ रहा गंगा का जलस्तर अब थमने लगा

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर बीते 7 दिनों से गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोत्तरी जारी थी। शुक्रवार सुबह 8 बजे से जलस्तर स्थिर होना शुरू हुआ। इसके बाद से गंगा के जलस्तर में दोपहर 12 बजे तक 19 सेंटीमीटर की कमी आई है। सिंचाई विभाग के मुताबिक, अब जलस्तर लगातार घटता जाएगा। शुक्लागंज में जलस्तर घटने के साथ ही कानपुर में चैनपुरवा समेत कई गांवों में पानी घटना शुरू हो गया है।

3.72 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया
सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक अपस्ट्रीम में 3 सेमी पानी कम हो चुका है। वहीं शुक्लागंज में 4 सेमी जलस्तर घटा है। कानपुर से भी पानी का डिस्चार्ज अब धीरे-धीरे कम हो रहा है। दोपहर तक 3.72 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। हालांकि अभी हालात सामान्य होने में 24 घंटे लग सकते हैं।

गंगा ने दिखाया रौद्र रूप
पहाड़ों में हुई मूसलाधार बारिश के बाद गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोत्तरी जारी थी। वहीं नरौरा और हरिद्वार से भी 3.50 लाख क्यूसेक तक पानी एक दिन में छोड़ा गया। इससे गंगा उफान पर आ गई थी। कानपुर और शुक्लागंज में भी गंगा का जलस्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया था। शुक्लागंज के बाकरगंज, रमेलनगर, हिंगूपुर समेत ख्योरा कटरी, बनियापुरवा, दुर्गापुरवा, मक्कापुरवा, भगवानदीन का पुरवा में बाढ़ का पानी कम होना शुरू हो गया है।

ये भी देखे: आज फिर होगी सुप्रीम कोर्ट में पटाखों के प्रतिबंध मामले में सुनवाई

पांडु नदी का जलस्तर भी सामान्य
गंगा की सहायक पांडु नदी भी उफना गई। इससे कानपुर के गोपालपुर, बर्रा-8 कच्ची बस्ती, पनका गांव समेत अन्य इलाकों में पानी भर गया था। गुरुवार शाम से जलस्तर में गिरावट दर्ज की जा रही है। बस्तियों से पानी निकल चुका है। 19 सेमी तक जलस्तर घट गया है। वहीं घटते जलस्तर के बाद स्थानीय लोगों के साथ प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *