इंजीनियरों तथा अफसरों की संपत्तियां जा रही खंगाली

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर कई इंजीनियरों तथा अफसरों की संपत्तियां खंगाली जा रही हैं। विजिलेंस तथा सतर्कता अधिष्ठान की टीम महत्वपूर्ण पदों पर कार्यरत रहे अफसरों तथा इंजीनियरों की संपत्तियों का ब्योरा जुटा रही हैं। इन अधिकारियों, इंजीनियरों पर भ्रष्टाचार कर संपत्ति कमाने का आरोप है। इनके साथ-साथ इनके परिवारीजनों की भी संपत्तियों की तलाश की जा रही है। एलडीए तथा नगर निगम से इन अफसरों तथा इंजीनियरों की संपत्तियों का ब्योरा मांगा गया है।

उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम में इंजीनियर व इकाई प्रभारी रहे सैयद शमीम अहमद के खिलाफ उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान ने खुली जांच शुरू की है। इनकी तथा उनके परिवारीजनों की परिसंपत्तियों की जांच की जा रही है। सैय्यद शमीम अहमद ने मायावती सरकार में अंबेडकर स्मारक तथा कांशीराम स्मारक के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इन दोनों प्रोजेक्ट पर इन्होंने काम किया था। इन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। अहमद मंजिल मुफ्तीगंज में रहने वाले सै. शमीम अहमद के अलावा उनकी परिवारीजनों की संपत्तियों की भी तलाश की जा रही है। उनकी पत्नी फराह अहमद, पुत्री समरीन अहमद, दूसरी पुत्री शबीका अहमद तथा पुत्र अली अहमद की संपत्तियों की तलाश की जा रही है। सतर्कता अधिष्ठान के एसपी ने नगर निगम तथा एलडीए से इनकी संपत्तियों का पूरा ब्योरा मांगा है। इनके तथा इनके परिवारीजनों के नाम से आवंटित सभी प्लाटों, भवनों, अचल संपत्तियों, नए खरीदे गए भावनों, भूखंडों तथा विक्रय किए गए भवनों, भूखंडों तथा अन्य अचल संपत्तियों की भी जानकारी मांगी है।

ज्वाइंट कमिश्नर व संभागीय परिवहन अधिकारी के खिलाफ भी जांच शुरू

सतर्कता अधिष्ठान कानपुर के एसपी ने पूर्व ज्वाइंट कमिश्नर वाणिज्य कर रहे दिनेश कुमार वर्मा तथा तत्कालीन संभागीय परिवहन अधिकारी कानपुर सुनीता वर्मा की संपत्तियों की भी जांच शुरू की है।  सुनीता वर्मा के भूखंड संख्या 2/2 सेक्टर एफ कानपुर रोड के बारे में जानकारी मांगी गई है। इसके अलावा अन्य भवनों, भूखण्डों के बारे में भी ब्योरा मांगा गया है। ज्वाइंट कमिश्नर वाणिज्यकर दिनेश कुमार वर्मा तथा उनके पुत्र आयुष कुमार, पुत्री आयुषी की संपत्तियों के बारे में भी पुलिस अधीक्षक उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान ने जानकारी मांगी है।

ये भी देखे: कुत्ते की हत्या पर थाने में किया जमकर हंगामा

अपर पुलिस अधीक्षक के खिलाफ भी शुरू हुई जांच

अपर पुलिस अधीक्षक रहे वीरेंद्र कुमार के खिलाफ भी जांच शुरू हुई है। इनके भी भवनों तथा भूखंडों का विवरण मांगा गया है। उनकी पत्नी कंचनलता तथा पुत्री की भी संपत्तियां तलाशी जा रही हैं। सतर्कता अधिष्ठान कानपुर के एसपी ने एक सप्ताह में इनकी सम्पत्तियों का ब्योरा उपलब्ध कराने को कहा है ताकि सभी मामलों की जांच पूरी की जा सके।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *