अब तक 41232 घरों का किया है जीका वायरस का सर्वे

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर कानपुर में जीका वायरस के 10 पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद से जल जनित रोगों पर अंकुश लगाने के लिए सभी आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करने के साथ ही जमीनी स्‍तर पर हर संभव प्रयास जारी है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने भी शहर में जीका संक्रमण के नए मामलों की पुष्टि होने पर स्वास्थ्य विभाग को दिशा निर्देश जारी करते हुए वृहद स्तर पर सर्विलांस कार्यक्रम करने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीमों की ओर से घर-घर जाकर संवेदीकरण, जांच, इंडोर स्प्रे, घरों के बाहर लार्विसाइडल स्प्रे और फॉगिंग का काम तेज कर दिया है। अब तक शहर के 41232 घरों के डेढ़ लाख से अधिक लोगों को जागरूक करने के अलावा रैंडम सैंपल कलेक्ट करने का कार्य भी तेज कर दिया है। अब तक शहर से 1900 से ज्यादा लोगों के सैंपल कलेक्ट करके जाँच करने के लिए भेजे जा चुके है।

अलर्ट मोड पर प्रशासन, शासन और स्वास्थ्य विभाग
शहर में जीका वायरस के मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार के अलावा प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर काम कर रहा है। कानपुर नगर में जीका वायरस के अब तक 10 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार रात को हाई लेवल बैठक में शहर के आला अधिकारियों को माइक्रो लेवल पर इन बीमारी को फैलने और इस रोग के उपचार और बचाव के संबंध में सभी प्रबंध सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। आपको बता दें सूबे में पहला जीका वायरस का मरीज की पुष्टि 22 अक्टूबर को हुई थी।

शुक्रवार देर शाम तक 745 जांचों में मिले 10 लोग

रविवार को एक हज़ार से ज्यादा लोगों के सैंपल लिए गए। शुक्रवार शाम तक हुई 745 रैंडम जांचों में लोगों के सैंपल की जांच केजीएमयू भेजे जा चुके थे उन्ही जांचो की रिपोर्ट रविवार को आयी जिसमें 6 और मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसमें से 396 सैंपल बुखार के लक्षण युक्त लोगों, 163 सैंपल गर्भवती महिलाओं और अन्‍य सर्विलांस रणनीति के तहत सैंपल एकत्र किए गए हैं। केजीएमयू में 745 सैंपल की जांच में से 09 लोगों में जीका वायरस की पुष्टि हुई है वहीं 01 रोगी की जांच एनआईवी पुणे से पॉजिटिव पाई गई इस तरह अब तक प्रदेश में कुल 10 जीका वायरस से ग्रसित लोगों की पुष्टि हुई है।

गर्भवती महिलाओं को किया गया है चिह्नित
शहर में 133 गर्भवती महिलाओं को चिह्नित किया गया है। यह वह महिलाएं हो जो पहले मिले मरीज के घर के चार किलोमीटर के दायरे में रहती है। इन सभी महिलाओं को दिन में तीन बार शहर की लोकल स्वास्थ्य टीमें मॉनिटर कर रही है। वहीं जिन मरीजों को बुखार आ रहा है उनको घर पर ही आइसोलेशन में रख कर पुरे घर के अन्य परिजनों के सैंपल कलेक्ट किए जा रहे है।

नगर निगम भी अलर्ट मोड पर कर रही है काम
सीएमओ डॉ नेपाल सिंह ने बताया, मुख्‍यमंत्री के आदेश के बाद ने स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के अधिकारियों और सभी संबंधित विभागों को डेंगू और जलजनित बीमारियों के कुछ मामलों को देखते हुए चिकित्सा सुविधाओं और साफ-सफाई का ध्यान रखने के निर्देश जारी कर दिए गए है।

जारी आदेश के तहत शहर में स्वास्थ्य विभाग की टीम की टीम इस इलाके से जुड़े ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पर अपना सर्विलांस जांच का दायरा बढ़ाएगी। जिसके तहत घर-घर जाकर बुखार से पीड़ित और जीका के लक्षण वाले लोगों को चिन्हित किया जा रहा है।

एयरफोर्स स्टेशन में मचा है अफरातफरी
इतने मरीज मिलने के बाद चकेरी एयरफोर्स स्टेशन में दहशत का माहौल है। एयरफोर्स की पांच टीमें एन-4,5, 2,1 और स्टेशन के अंदर बने गांव बीबीपुर, गऊखेड़ा, और अन्य जगहों पर फॉगिंग और एंटी लार्वा का छिड़काव कर रही है। इसके अलावा बाहर से आने वाले अधिकारियों को भी कुछ समय के लिए स्टेशन में आने से मना कर दिया गया है। एचएएल में भी अलर्ट जारी कर किया जा रहा है बुखार के मरीजों की जाँच।

ये भी देखे: इंतजार की घड़ियां हुई खत्म,कानपुर में दौड़ी मेट्रो

जीका के ये हैं लक्षण
स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के मुताबिक बुखार, बदन दर्द, शरीर पर रैशेज जीका के प्रमुख लक्षण हैं। रोग के गंभीर होने की स्थिति में मायोकार्डिटिस, रीनल फेलियर एवं न्यूरोलॉजिकल लक्षण भी आ सकते हैं।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *