लाल निशान के साथ खुला सेंसेक्स , निफ्टी की भी कमजोर शुरूआत

0

न्यूज जंगल डेस्क। कानपुर। शेयर बाजार की शुरुआत आज गिरावट के साथ हुई। बीएसई का 30 स्टॉक्स वाला प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 61.12 अंक नीचे 60,291.70 के स्तर पर खुला। निफ्टी ने भी 18000 के नीचे आज के दिन के कारोबार की शुरुआत किया। निफ्टी 50 अंक नीचे 17,967 पर खुला। सुबह सवा नौ बजे बाजार खुलते ही HDFC, आईसीआईसीआई बैंक, इन्फोसिस, एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोटक बैंक, एक्सिस बैंक, टीसीएस, स्टेट बैंक जैसे दिग्ग्ज स्टॉक नुकसान में चल रहे थे। इनकी वजह से सेंसेक्स 192 अंक टूटकर 60160 के स्तर पर आ गया। एनटीपीसी, मारुति, टाटा स्टील, टाइटन आदि हरे निशान पर थे।

एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयरों में गिरावट से बुधवार को सेंसेक्स 81 अंक टूट गया। वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख से भी कारोबारी धारणा प्रभावित हुई। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 80.63 अंक यानी 0.13 प्रतिशत के नुकसान से 60,352.82 अंक पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 27.05 अंक यानी 0.15 प्रतिशत टूटकर 18,017.20 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में इंडसइंड बैंक का शेयर सबसे अधिक तीन प्रतिशत टूट गया। टाटा स्टील, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एशियन पेंट्स, टाइटन और एसबीआई के शेयरों में भी गिरावट आई।

ये भी देखें – महाराष्‍ट्र में यहाँ जिन लोगों ने नहीं लगवाई है कोरोना वैक्‍सीन, उन्‍हें नहीं मिलेगा पेट्रोल-राशन

जोमैटो का सितंबर में समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध घाटा बढ़कर 434.9 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। खाने-पीने के सामान की डिलिवरी के कारोबार में निवेश की वजह से कंपनी का घाटा बढ़ा है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी को 229.8 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। 

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी एकीकृत परिचालन आय बढ़कर 1,024.2 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 426 करोड़ रुपये थी।  जोमैटो के संस्थापक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपिंदर गोयल और मुख्य वित्त अधिकारी (सीएफओ) अक्षत गोयल ने एक पत्र में कहा, ”हमारा नुकसान बढ़ने की वजह यह है कि हमने अपने डिलिवरी कारोबार को बढ़ाने के लिए निवेश किया है।” 

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *