पश्चिमी यूपी में बढ़ी ठंड से बदला स्कूल का टाईमिग, जाने नया टाइम-टेबल

न्यूज जगंल डेस्क, कानपुर : पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बढ़ती ठंड को देखते हुए स्कूलों ने अपनी टाइमिंग में बदलाव करने का फैसला किया है. 12 नवंबर को उत्तर प्रदेश में तापमान करीब 20 डिग्री रहा. पश्चिमी यूपी में गिरते तापमान को देखते हुए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (CBSE) के स्कूलों ने टाइमिंट चेंज करने का फैसला किया है. मेरठ सहित मुजफ्फरनगर, सहारनपुर के स्कूलों ने समय में बदलाव किया है. सुबह 7.30 बजे से खुलने वाले स्कूल अब 8.30 बजे खुलेंगे. पहली क्लास से लेकर 12वीं तक का टाइम-टेबल बदला गया है. 

स्कूलों ने बच्चों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया है. कोविड-19 महामारी के चलते लंबे समय से स्कूल बंद चल रहे थे. हालांकि, राज्य में कक्षा 9 से 12वीं के लिए अगस्त 2021 से कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने का दिशा-निर्देश जारी करते हुए स्कूलों को दोबारा खोला गया. ऐसे में छात्र-छात्राओं को मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना, हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करने की सख्ती से पालने करने का निर्देश दिया गया है.  

इन स्कूलों में नया टाइम-टेबल लागू

मुजफ्फरनगर के एमजी पब्लिक स्कूल ने समय में बदलाव करते हुए सुबह 8:20 से दोपहर 1:20 कर दिया है. इसी तरह एसडी पब्लिक स्कूल ने समय में बदलाव करते मॉर्निंग टाइम 8:50 से दिया गया है. मेरठ के गार्गी गर्ल्स स्कूल ने भी समय में बदलाव किया है. अधिकारियों ने सुबह 9:30 बजे से दोपहर 2 बजे तक स्कूल शुरू करने का फैसला किया है. इसी तरह राधा गोविंद स्कूल के समय में भी बदलाव कर दिया गया है. छात्रों के लिए कक्षाएं सुबह 8:30 बजे से शुरू होंगी और दोपहर 1:30 बजे समाप्त होंगी. इसी प्रकार मेरठ के सोफिया गर्ल्स स्कूल ने भी टामिंग चेंज किया है. छात्रों के लिए कक्षाएं सुबह 8 बजे से शुरू होंगी और दोपहर 12 बजे तक चलेंगी.  छात्र-छात्राएं अधिक अपडेट के लिए अपने संबंधित स्कूलों की आधिकारिक वेबसाइट देखते रहें. 

ये भी पढ़े : ‘हिंदी संग स्थानीय भाषाओं का नहीं कोई विवाद, स्वभाषा को बढ़ाएं आगे’- अमित शाह

वहीं, राजस्थान के शिक्षा विभाग ने भी सर्दी के चलते स्कूलों के समय में बदलाव किया है. 16 अक्टूबर से लागू किए गए शीतकालीन समय के अनुसार, राज्य में कक्षाएं सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक चलेंगी. गौरतलब है कि दिवाली के बाद से ही पश्चिमी यूपी में ठंड बढ़ने के साथ पीएम 2.5 का स्तर भी हवा में बढ़ रहा है. सुबह के समय धुंध रहती है. इसके चलते बच्चों को प्रदूषण के बीच में से गुजरकर स्कूल जाना पड़ता है. इससे बचाने के लिए भी स्कूलों ने समय में बदलाव किया है. ज्यादातर स्कूल शहर से बाहर हैं. ऐसे में दूर से आने वाले बच्चों की सेहत को ध्यान में रखते हुए स्कूलों ने यह फैसला लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *