अयोध्या में पीएनबी अफसर श्रद्धा ने की आत्महत्या

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर अयोध्या के पंजाब नेशनल बैंक की मुख्य शाखा ख़्वासपुरा में तैनात असिस्टेंट मैनेजर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका श्रद्धा गुप्ता लखनऊ के गोमतीनगर की रहने वाली है। वह करीब छह साल से अयोध्या में तैनात थी। उन्होंने अपने सुसाइड नोट में आइपीएस अधिकारी आशीष तिवारी समेत तीन लोगों को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया है।

खिड़की से देखी दुपट्‌टे के फंदे से लटकता हुआ शव
श्रद्धा ने ख्वासपुरा के पीएनबी की शाखा में बतौर क्लर्क साल 2015 में ज्वाइन किया था। प्रमोशन के बाद श्रद्धा को बछड़ा सुलतानपुर के पीएनबी बैंक में असिस्टेंट मैनेजर के पद पर भेजा गया। उन्होंने बैंक के सामने विष्णु एंड कंपनी बिल्डिंग में कमरा किराए पर ले रखा था। श्रद्धा यहां अकेली रहती थीं। शनिवार की सुबह दूध वाले ने श्रद्धा के कमरे का दरवाजा खटखटाया। अंदर से कोई आवाज नहीं आने पर उसने मकान मालिक को खबर दी। मकान मालिक ने खिड़की से अंदर झांका तो श्रद्धा को दुपट्टे के फंदे पर लटकता हुआ देखा। इसके बाद उन्होंने पुलिस बुलाया।अंग्रेजी में लिखे सुसाइड नोट में श्रद्धा ने खोले नाम
संवेदनशील मामले में SSP शैलेश पांडेय घटनास्थल पर पहुंचे। कमरा अंदर से बंद था। खिड़की तोड़कर एक पुलिस वाले को अंदर दाखिल कराया गया। जिसके बाद दरवाजा खोलकर लाश को बाहर निकाला गया। पुलिस को कमरे में छानबीन करने के बाद एक अंग्रेजी में लिखा हुआ सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उसने राजेश, विवेक गुप्ता, अनिल रावत (पुलिस फैजाबाद) व आशीष तिवारी (एसएसएफ हेड लखनऊ) को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया। SSP शैलेश पांडेय ने बताया कि सुसाइड नोट को जांच के लिए फोरेंसिक विभाग के पास भेजा जा रहा है।

एक दिन पहले परिवार करता रहा फोन, श्रद्धा ने नहीं उठाया
श्रद्धा के परिवार से जुड़े दीप ने बताया कि शुक्रवार की शाम से ही श्रद्धा के घरवाले उन्हें फोन कर रहे थे। लेकिन श्रद्धा ने फोन रिसीव नहीं किया था। शनिवार सुबह भी परिवार वालों के फोन का जवाब नहीं दिया। उन्हें पुलिस से घटना के बारे में मालूम हुआ।

शुक्रवार को श्रद्धा ड्यूटी पर नहीं आई थी
पुलिस ने बैंक के कर्मचारियों से भी पूछताछ की। सामने आया कि गुरुवार को क्षेत्रीय कार्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में श्रद्धा शामिल हुई थीं। शुक्रवार को वह ड्यूटी पर भी नहीं आई थी। वहीं अयोध्या पुलिस ने IPS आशीष तिवारी से संपर्क किया। जिस पर आशीष तिवारी ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच के लिए कहा है। हालांकि अयोध्या पुलिस और आशीष तिवारी के बीच हुई इस बातचीत की पुष्टि भास्कर नहीं करता है।

ये भी देखे: भाजपा और बसपा के बागी यह विधायक हुए सपा में शामिल

फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया सुसाइड नोट
SSP शैलेश पांडे ने बताया कि सुसाइड नोट मिला है। उसकी फोरेंसिक जांच कराई जा रही है। उसमें कुछ नाम है। उनकी जांच करवाई जा रही है। जो तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का सही कारण स्पष्ट हो सकेगा।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *