चार महीने में छठी बार यूपी पहुंचे पीएम, दौरे से 130 विधानसभा सीटे साधने की कोशिश

0

न्यूज जंगल डेस्क,कानपुर : आबादी के लिहाज से देश के सबसे बड़े राज्य यूपी में कुछ ही महीनों बाद विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं. सबसे ज्यादा लोकसभा और विधानसभा सीटों वाले राज्य यूपी में बीजेपी लगातार दूसरी बात सत्ता में वापसी की राह देख रही है. यूपी फतह के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पूरा जोर लगाया हुआ है. विधानसभा चुनाव की तैयारियों में बीजेपी किसी तरह की कोई कमी नहीं छोड़ना चाहती है. ये चुनाव बीजेपी के लिए कितना महत्वपूर्ण है. इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पीएम मोदी का बीते चार महीने में ये छठी बार यूपी दौरा है.

मोदी आज सिद्धार्थनगर और अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा कर रहे हैं. मोदी सिद्धार्थनगर से यूपी को 9 मेडिकल कॉलेज की सौगात देंगे तो वहीं, वाराणसी में प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की शुरुआत करेंगे. इसके अलावा मोदी यहां पर 5200 करोड़ रुपये से अधिक की कई परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे. 

4 महीने में 6वीं बार यूपी के दौरे पर पीएम मोदी 

15 जुलाई – वाराणसी
22 अगस्त – लखनऊ (कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन के लिए)
14 सितंबर – अलीगढ़
5 अक्टूबर – लखनऊ
20 अक्टूबर – कुशीनगर
25 अक्टूबर- वाराणसी और सिद्धार्थनगर

130 विधानसभा सीटों पर रहेगी नजर
पूर्वांचल में बीजेपी की अच्छी पकड़ मानी जाती है. मोदी चार महीने के अंदर आज तीसरी बार पूर्वांचल का दौरा करने वाले हैं. 404 विधानसभा सीटों वाले यूपी में 130 सीटें पूर्वांचल से ही आती हैं. साफ है कि मोदी अपने इस दौरे से पूर्वांचल की 130 सीटों को साधने की कोशिश भी करेंगे. 

आइये आपको बताते हैं कि मोदी के आज होने वाले सिद्धार्थनगर और वाराणसी दौरे में क्या खास रहने वाला है.

पीएम मोदी का सिद्धार्थ नगर दौरा

मोदी सिद्धार्थनगर के दौरे में यूपी के 9 मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन करेंगे. इनमें से 8 मेडिकल कॉलेज के केंद्र की योजना के तहत बने हैं. जबकि जौनपुर मेडिकल कॉलेज को राज्य सरकार ने बनवाया है.

किस-किस जिले में हैं 9 मेडिकल कॉलेज

  1. सिद्धार्थनगर
  2. एटा
  3. हरदोई
  4. प्रतापगढ़
  5. फतेहपुर
  6. देवरिया
  7. गाजीपुर
  8. मिर्जापुर
  9. जौनपुर

क्यों इन्हीं 9 जिलों में मेडिकल कॉलेज को प्राथमिकता दी गई

  • केंद्र की योजना में पिछड़े और आकांक्षी जिलों को वरीयता दी गई है
  • उन जिलों को भी वरीयता, जहां सुविधायें उपलब्ध नहीं थी
  • इस योजना का उद्देश्य स्वास्थ्यकर्मियों की कमी दूर करना
  • इन इलाकों में स्वास्थ्य सुविधाओं में कमी को दूर किया गया
  • योजना का उद्देश्य पहले से मौजूदा संसाधनों का प्रभावी ढंग से उपयोग करना है

केंद्र की जिला/रेफरल अस्पतालों से जुड़े नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना योजना क्या है?

  • उन जिलों में मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जाते हैं, सरकारी या निजी मेडिकल कॉलेज नहीं
  • इस मामले में वंचित/पिछड़े/आकांक्षी जिलों को वरीयता दी जाती है
  • योजना में 2014 से अब तक देश में 157 नए मेडिकल कॉलेज मंजूर किए गए
  • इन परियोजनाओं पर कुल 17,691.08 करोड़ रुपये का निवेश किया
  • सभी मेडिकल कॉलेज बनने के बाद 16 हजार अंडरग्रेजुएट सीटें जोड़ी जाएंगी
  • इनमें से 63 मेडिकल कॉलेजों का संचालन हो रहा है
  • करीब 6500 सीटें पहले ही बढ़ाई जा चुकी है  
  • मोदी वाराणसी में पीएम आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना (पीएमएएसबीवाई) का शुभारंभ करेंगे. इसके अलावा वो काशी के लिए 5200 करोड़ रुपये से अधिक की कई परियोजनाओं का उद्घाटन भी करेंगे.

ये भी पढ़े : यूपी को मिली नौ मेडिकल कॉलेज की सौगात, पीएम-पूर्वांचल बनेगा मेडिकल हब

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना

  • योजना देश के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करेगी
  • स्वास्थ्य संबंधी यह देश की सबसे बड़ी योजनाओं में एक है
  • योजना का उद्देश्य क्रिटिकल केयर और प्राथमिक उपचार की कमियों को दूर करना है
  • योजना 10 राज्यों के 17,788 ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्रों को सपोर्ट देगी
  • योजना में देश में 11,024 शहरी स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र स्थापित किए जाएंगे
  • 5 लाख से ज्यादा आबादी वाले जिले में क्रिटिकल केयर सुविधाएं दी जाएंगी
  • बाकी जिलों को रेफरल सेवाओं के माध्यम से कवर किया जाएगा
  • योजना में नेशनल इंस्टिट्यूशन ऑफ वन हेल्थ, 4 नए वीरोलॉजी संस्थान बनेंगे
  • WHO दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र के लिए एक क्षेत्रीय अनुसंधान प्लेटफार्म बनेगा
  • 9 जैव सुरक्षा स्तर III की प्रयोगशालाएँ और 5 नए राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र बनेंगे

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *