पीएम मिनट्स- पूर्वांचल एक्सप्रेस वे- प्रधानमंत्री मोदी आज पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करेंगे

0

विद्यान्नद द्विवेदी की रिपोर्ट…

दोपहर

●1:20 बजे एयरफोर्स के विमान से प्रधानमंत्री सुलतानपुर पहुंचेंगे

●1:35 बजे कार्यक्रम स्थल के लिए रवाना होंगे

●2:50 बजे मिराज फाइट जेट लैंड करेगा…

न्यूज जगंल डेस्क, कानपुर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करेंगे. 341 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करने के लिए प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश के दौरे पर जाएंगे. पीएम मोदी लॉकहिड मार्टिन सी-130 हेरकयूलिस विमान से दोपहर करीब डेढ़ बजे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर लैंड करेंगे. वहीं इस दौरान पीएम मोदी की अगवानी के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे.

छह लेन का पूर्वांचल एक्सप्रेसवे आठ लेन तक बढ़ाया जा सकता है. यह लखनऊ को आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, फैजाबाद, सुल्तानपुर, अंबेडकर नगर और अमेठी से जोड़ेगा.

एक्सप्रेस-वे लखनऊ के गांव चांद सराय से शुरू होकर गाजीपुर जिले के हैदरिया गांव में खत्म होगा. यह एक्सप्रेसवे यमुना एक्सप्रेसवे के जरिए उत्तर प्रदेश के पूर्वी जिलों को राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली से भी जोड़ेगा.

यह देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे बनेगा.एक्सप्रेसवे में आठ पेट्रोल पंप हैं जबकि चार सीएनजी स्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं.एक्सप्रेस-वे पर चार लाख पेड़ लगाए जा रहे हैं. साथ ही भूगर्भीय परिस्थितियों के अनुसार हर 500 मीटर पर रेन वाटर हार्वेस्टिंगके पिट्स बनाए जा रहे हैं.

इसके साथ ही एक्सप्रेस वे पर इंटरचेंज, फ्लाईओवर, बड़े पुलों, छोटे पुलों और सोलर बैकअप के साथ अंडरपास पर रोशनी की व्यवस्था भी की जा रही है.दुर्घटनाओं और आपात स्थितियों से निपटने के लिए लाइफ सपोर्ट सिस्टम वाली एंबुलेंस तैयार रखी जाएंगी.

कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि 20 पैट्रोलिंग वाहन भी तैनात किए जाएंगे.सड़क सुरक्षा उपायों के तहत दोनों लेन और बीच में दोनों ओर मेटल बीम क्रैश बैरियर, सावधानी बोर्ड लगे हैं.

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (UPEIDA) ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए एक्सप्रेसवे पर व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की है.  इसमें आवारा पशुओं को रोकने के लिए एक  एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम और फेंसिंग की जाएगी.

ये भी पढ़े : प्रधानमंत्री से पहले सपा कार्यकर्ताओं ने किया पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का ‘उद्घाटन’

कोरोना के बाद भी सरकार ने अक्टूबर 2021 तक काम पूरा करने का लक्ष्य पूरा किया. साथ ही इस दौरान 60 लाख श्रम दिवस बने.एक्सप्रेसवे का उपयोग भारतीय वायु सेना के विमानों के लिए एक आपातकालीन रनवे के रूप में भी किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश सरकार को उम्मीद है कि इसके खुलने के बाद शुरुआती दिनों में हर दिन 15,000-20,000 वाहन एक्सप्रेसवे का उपयोग करेंगे.

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *