कानपुर में चल रही पेठा इकाइयों को एनजीटी ने बंद करने के दिए आदेश

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर पॉल्यूशन फैलाने में कानपुर में चल रही पेठा इकाइयों को एनजीटी ने बंदी के आदेश दिए हैं। यूपी पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (यूपीपीसीबी) ने आदेशों के पालन के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है। पेठा इकाइयों की बिजली काटी गई है। इसके बावजूद चोरी-छिपे पेठा बनाने पर यूपीपीसीबी ने कारोबारियों पर जुर्माना लगाया है।

इन पर लगाया जुर्माना
यूपीपीसीबी ने बंदी की कार्रवाई कराने के साथ ही सीताराम मोहाल के बउवा पेठा, गुलशन पेठा, बंटी पेठा, हूलागंज के मेसर्स राजेंद्र गुप्ता पेठा, जीतू पेठा, प्रेम पेठा, लोकमन मोहाल के रमेश पेठा, हरबंश मोहाल के मेसर्स रामकुमार दीक्षित पेठा और साहूकार पेठा पर 1.57- 1.57 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी अनिल माथुर ने बताया कि जुर्माना लगाया गया है।

ये भी देखे: सड़क और पुल न होने से कुंवारे है इस गांव के युवा, आज तक नहीं पहुंचे नेता-अफसर

आवासीय क्षेत्र में चल रही थी
हूलागंज, नयागंज और हरबंश मोहाल समेत शहर में ऐसे स्थानों पर पेठा बनाया जाता है जो औद्योगिक क्षेत्र में नहीं आते हैं। आवासीय क्षेत्रों में पेठा बनाए जाने का कारोबार करना अवैध है। यहां से निकलने वाले ठोस अपशिष्ट ऐसे ही सड़क पर फेंक दिया जाता था। जलस्तर भी इन इकाइयों के चलते से लगातार कम होता जा रहा है। एनजीटी के आदेश पर क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने औचक निरीक्षण कर 9 इकाइयों को बंद करा दिया था।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *