कानपुर ने यातायात सुधार के लिए एक कदम और बढ़ाया

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर पुलिस कमिश्नरेट कानपुर ने यातायात सुधार की दिशा में एक और कदम बढ़ाया है। अब किसी भी चौराहे पर यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाने वालों का ऑनलाइन चालान बगैर पुलिस कर्मियों के कुछ किए ही काटा जाएगा। यह पूरी कार्रवाई खरीदे गए नए पोर्टेबल कैमरों से होगी। अभी तक सिर्फ जिन चौराहों पर स्मार्ट सिटी या आईटीएमएस के तहत ट्रैफिक सिग्नल में कैमरे लगे हैं, वहां ऑटोमेटिक चालान की व्यवस्था है।

अब पुलिस आपका फोटो भी नहीं खींचेगी और कट जाएगा चालान
पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि लाख प्रयास के बाद भी लोग तीन सवारी, हेलमेट और सीटबेल्ट व रांग साइड में वाहन चलाने से बाज नहीं आ रहे हैं। यातायात सुधार और नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन सवारों पर कार्रवाई के लिए दो अलग-अलग तरह के पोर्टेबल कैमरे एक निजी कंपनी से डिजाइन करवाए गए हैं।

यह कैमरे पुलिस किसी भी चौराहे पर बैरियर पर टांग देगी। चौराहे से गुजरने वाले एक-एक वाहन का फोटो इसमें कैद होता जाएगा। इसी फोटो के आधार पर फिर नियम तोड़ने वाले वाहनों का चालान होगा। अब चौराहों पर मौजूद पुलिस कर्मियों को नियम तोड़ने वाले वाहनों की मोबाइल से फोटो भी नहीं खींचना पड़ेगा। यातायात पुलिस पूरी क्षमता से चौराहों पर यातायात संभालने का काम करेगी। मौजूदा समय में चौराहों पर तैनात ट्रैफिक पुलिस नियम तोड़ने वालों का मोबाइल से फोटो खींचकर चालान काटती है।

पुलिस कमिश्नर दफ्तर में कैमरों का ट्रायल सफल
पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि उन्होंने कैमरों को ट्रायल के तौर पर अपने दफ्तर के बाहर मेन गेट पर दोनों तरफ लगाया है। दफ्तर आने वाले एक-एक व्यक्ति की तस्वीर और वाहन नंबर समेत अन्य डेटा इसमें रोजाना कैद होता जाता है। इसके साथ ही शहर के प्रमुख चौराहों पर भी इसका ट्रायल किया गया। ट्रायल में सफल होने के बाद पुलिस कमिश्नर ने निजी कंपनी से 20 कैमरे खरीदे हैं। जल्द ही चौराहों पर इन कैमरों से चालान शुरू होगा।

ये भी देखे: अगर बनना है रंक से राजा तो पहनिए ये रत्न

अपराध पर भी लगेगा अंकुश
पुलिस कमिश्नर ने बताया कि यह कैमरे सिर्फ चालान ही नहीं अपराध पर भी अंकुश लगाएंगे। इन कैमरों का इस्तेमाल शहर के अलग-अलग 20 जगहों पर रोजाना किया जाएगा। अगर कोई चेन या मोबाइल स्नेचिंग करके भागता है। या फिर अन्य कोई वारदात जहां कैमरा लगाया गया है संबंधित रूट पर होती है तो पुलिस को जांच में मदद मिलेगी।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *