इंडियन डेंटल एसोसिएशन कैंसर दिवस पर लगाएगा जांच शिविर

आगामी 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस के उपलक्ष में इंडियन डेंटल एसोसिएशन की कानपुर इकाई ने गोविंद नगर में आयोजित एक मीटिंग में बताया कि शहर वासियों को मुंह में होने वाले कैंसर के बारे में जागरूक करने के लिए एवं उनके मुंह की निशुल्क जांच के लिए कानपुर की विभिन्न क्लीनिक में निशुल्क जांच शिविर का आयोजन 4 फरवरी से 10 फरवरी के बीच किया जाएगा इसके साथ ही एक निशुल्क जांच शिविर 4 फरवरी को पुलिस लाइन में भी लगाया जाएगा जिसमें कानपुर शहर के विभिन्न नामी दंत चिकित्सक हिस्सा लेंगे |

न्यूज जंगल कानपुर डेस्क :-आई.डी.ए. अध्यक्ष डॉ. नीरज सोनी ने खास बातचीत के दौरान जानकारी दी कि मुँह का कैंसर एक सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्या है जो बड़ी संख्या में विकलांगता और मौतों को जन्म देती है, लेकिन जल्दी पता चलने पर जीवित रहने की संभावना आश्चर्यजनक रूप से अधिक होती है। दन्त रोग विशेषज्ञ मुंह के कैंसर की प्रारंभिक जांच, शीघ्र रेफरल और उपचार की दिशा में एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी साझा करता है। बावजूद इसके लोगों में जागरूकता के अभाव एवं अज्ञानता के कारण लोग सही समय पर मुंह के परिक्षण के लिए नियमित रूप से दन्त रोग विशेषज्ञ के पास नहीं जाते। यदि नियमित रूप से डेंटल चेकअप करवाया जाये तो अधिकांश लक्षण पहले ही पकड़ में आ जाते हैं और बीमारी को समय रहते ही रोका जा सकता है।

आईडीए कानपुर के उपाध्यक्ष एवं मीडिया प्रभारी डॉ अवधेश तिवारी ने बताया कि कैंसर, वैश्विक स्तर पर बढ़ती गंभीर और जानलेवा बीमारियों में से एक है। हर साल अलग-अलग प्रकार के कैंसर के कारण लाखों लोगों की मौत हो जाती है। मुंह का कैंसर (Oral Cancer) भी ऐसा ही एक तेजी से बढ़ता खतरा है। अधिकांश अध्ययनों से पता चला है कि भारी धूम्रपान और शराब का सेवन मुँह के कैंसर के सबसे महत्वपूर्ण कारक हैं। मुंह के कैंसर के कई कारण हो सकते हैं, जिसके बारे में सभी लोगों को जानते हुए उनसे बचाव के निरंतर उपाय करते रहने चाहिए।

आई.डी.ए. कानपुर के पब्लिक हेल्थ प्रमुख, डॉ. प्रणव ठाकुर ने बताया कि भारत में हर साल मुंह के कैंसर के लगभग 77,000 नए मामले सामने आते हैं और इस कैंसर के कारण 52,000 लोगों की मौत हो जाती हैं। डॉ प्रणब ठाकुर एवं आई.डी.ए. कानपुर के द्वारा कुछ दिन पहले शहर के १०० दन्त रोग विशेषज्ञों पर एक प्रश्नावली सर्वे किया गया जिससे यह निष्कर्ष निकाला गया कि दन्त रोग विशेषज्ञ की राय एवं सही समय पर उसका उपचार कैंसर की जटिलता से बचाता है एवं कैंसर सर्जरी के पश्चात जीवनयापन उम्र बढ़ाता है।

सर्वे टीम की प्रमुख ओरल पैथोलॉजिस्ट डॉ. गौरी मिश्रा ने बतया कि मुंह के कैंसर की प्रारम्भिक जांच बेहद सरल एवं दर्द रहित होती है और किसी भी डेंटल क्लिनिक पर आराम से की जा सकती है। जानकारी और जागरूकता के अभाव में लोग समय पर जांच नहीं कराते।
इसी क्रम में सचिव डॉ. अनीश कपूर ने बताया कि फरवरी का प्रथम सप्ताह आई.डी.ए. कानपुर ओरल कैंसर जागरूकता सप्ताह के रूप में मनाएगा। कोषाध्यक्ष डॉ अमित मिश्रा ने बताया की आईडीए कानपुर शहरवासियों के मुख संबंधी स्वास्थ्य को लेकर प्रतिबध है और पूरे वर्ष विभिन्न जांच शिविरों के माध्यम से आम जनमानस को स्वास्थ्य लाभ देने का प्रयास किया जाएगा |

यह भी पढ़े :- Dhirendra Shastri in Prayagraj : धीरेंद्र शास्त्री की प्रयागराज में एंट्री,सजेगा बालाजी का दरबार, दूर-दूर से पहुंचे श्रद्धालु

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *