दिल्ली हावड़ा रूट पर हुआ मालगाड़ी डिरेल हादसा,पलटे 24 वैगन,देखें रिपोर्ट

0
Such Goods Train Accident Averted On Delhi-Howrah Rail Route - दिल्ली-हावड़ा  रेलमार्ग पर मालगाड़ी हादसा टला, कंचौसी स्टेशन पर रोका | Patrika News

न्यूज जंगल डेस्क,कानपुरः दिल्ली-हावड़ा रेल रूट पर शुक्रवार की सुबह मालगाड़ी डिरेल हो गई और कई 24 वैगन पलट गए। इससे करीब सौ मीटर तक ट्रैक उखड़ गया है और वैगन आपस में भिड़ने के बाद पांच वैगन उछलकर किनारे तालाब में जा गिरे हैं। इससे नई दिल्ली हावड़ा की अप और डाउन लाइन पर ट्रेनों का संचालन बंद हो गया है। हादसा अंबियापुर स्टेशन के पास हुआ है।

नई दिल्ली-हावड़ा रेल रूट पर  शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे खाली वैगन लेकर मालगाड़ी कानपुर की ओर जा रही थी। अंबियापुर रेलवे स्टेशन के पास तेज रफ्तार मालगाड़ी अचानक पटरी से उतरी और करीब सौ मीटर से ज्यादा घिसटती चली गई। इससे सौ मीटर के दायरे में ट्रैक उखड़ गए, चालक ने मालगाड़ी को रोकने का प्रयास किया तो वैगन आपस में टकराते चले गए। डिरेल हुई मालगाड़ी से तीन वैगन दिल्ली-हावड़ रेल लाइन की पटरियों पर जा गिरे, वहीं पांच वैगन दूसरी ओर तालाब में जा गिरे।

हादसे के बाद चालक व गार्ड ने अंबियापुर स्टेशन पर सूचना दी तो कंट्रोल को अवगत कराते हुए नई दिल्ली हावड़ा रेल रूट पर अप व डाउन लाइन पर ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया। सूचना पर रेलवे स्टाफ और तकनीकी टीम घटनास्थल पर पहुंच गई है। कानपुर और टुंडला से भी रेलवे की तकनीकी टीम पहुंच रही है। सूचना मिलते ही रेलवे अफसर भी मौके पर पहुंच रहे हैं। अंबियापुर स्टेशन मास्टर पवन कुमार ने बताया कि मालगाड़ी निकलने के समय तेज आवाज आ रही थी। वाकी टाकी से चालक को सूचित किया गया लेकिन तबतक हादसा हो गया और 24 वैगन पलट गए। इंजन व कुछ डिब्बे ट्रैक पर आगे की ओर निकल गए थे।

बीते एक माह के अंदर इटावा में भी डीएफसी ट्रैक पर मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो चुकी है। डेडिकेटेड फ्रेट कारीडोर के तहत टुंडला से कानपुर भाऊपुर तक ट्रैक बिछाने का प्रथम चरण का कार्य पूरा होने पर मालगाड़ी का संचालन शुरू कराया गया था। इसके बाद से लगाता हादसों का सिलसिला जारी है। बीते दिनों इटावा में मालगाड़ी के डिरेल होने से ट्रैक उखड़ गया था और करीब एक सप्ताह तक ट्रैक पर संचालन बंद रहा था।

यह भी देखेंःभारत की सर्जिकल स्ट्राइक दुनिया के लिए था सख्त संदेशःअमित शाह

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *