परिजनों का आरोप पुलिस की पिटाई से मौत

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर (चोरी के आरोप में पकड़े गए युवक को हालत बिगड़ने पर पुलिस ने घर भिजवा दिया था, जिसके बाद अस्पताल में उसकी मौत हो गई)

ये है पूरा मामला……

मामला कानपुर के कल्याणपुर थाना क्षेत्र का है जहां कल्याणपुर के माधवपुरम निवासी तेज नारायण के पड़ोसी वाईएस दीक्षित के घर पर चोरी हो गई थी। उन्होंने घर से बीस लाख की चोरी होने की शिकायत कल्याणपुर थाने में की थी। वाईएस दीक्षित ने पुलिस की पूछताछ में तेजनारायण के बेटे जितेंद्र उर्फ कल्ले पर शक जताया था। स्वजन ने बताया कि मुंबई में रहकर जितेंद्र मजदूरी करता था और दीपावली पर घर आया था। चोरी के आरोप में पुलिस 13 नवंबर को उसे पूछताछ के लिए हिरासत में ले गई थी।

पीटने से बिगड़ी हालत तो खाने से छोड़ा आईआईटी सोसायटी माधवपुरम मड़ैया निवासी गोमती देवी ने बताया कि बस्ती से सटी पॉश कॉलोनी में रहने वाला एक शख्स बहू बेटियों को छत से नहाते हुए देखता था बेटे जितेन और कल्लू ने इस बात का विरोध किया था आरोप है कि इसी बात को लेकर खुन्नस रखने वाले ने झूठी चोरी के मुकदमे में उसके बेटे को फंसा दिया कल्याणपुर थाने की पुलिस ने उसके घर पर दबिश देकर 14 नवंबर को उसके बेटे कल्लू को हिरासत में लिया था थाने में उसकी खूब पिटाई हुई देर रात बहन मानसी खाना देने थाने पहुंची तो पुलिस ने उसकी सुपुर्दगी में छोड़ दिया सोमवार रात को कल्लू की हालत बिगड़ी और मंगलवार सुबह हॉस्पिटल ले जाने के दौरान रास्ते में उसने दम तोड़ दिया परिजनों ने कल्याणपुर थाना पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए थानेदार अशोक कुमार दुबे समेत अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करने की मांग की है

डीसीपी और एसपी मामले की जांच करने पहुंचे

मामले की जानकारी मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने मौके पर डीसीपी पश्चिम बी टी जी एस मूर्ति को जांच के लिए मौके पर भेजा डीसीपी और एसीपी कल्याणपुर मौके पर पहुंचे हैं वे आक्रोशित परिजनों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं इसके साथ ही आश्वासन दिया है कि उनकी तैयारी पर एफ आई आर दर्ज करके दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी

शरीर पर चोट के निशान दे रहे बर्बरता की गवाही

मृतक की मां गोमती बहन मानसी और भाई किन्ना ने कहा कि मृतक जितेंद्र कल्लू के शरीर पर पिटाई के निशान पुलिस की बर्बरता से पिटाई की गवाही दे रहे हैं पूरा शरीर ऊपर से लेकर नीचे तक का लफड़ा है पीठ से लेकर पांव तक बेल्ट से पीटने के निशान है आरोप है कि पुलिस की पिटाई से कल्लू की मौत हो गई है जबकि पूछताछ और जांच के दौरान पुलिस को चोरी से संबंधित कोई साक्ष्य नहीं मिला इसके बाद भी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई

सपा के पूर्व विधायक बोले सीएम की ठोको नीति का शिकार हुआ जितेंद्र

मामले की जानकारी मिलते ही सपा और कांग्रेस के कई नेता मौके पर पहुंचे कल्याणपुर विधानसभा के पूर्व विधायक सतीश निगम ने कहा कि सीएम की ठोको नीति का शिकार कल्लू हुआ है या कोई पहला मामला नहीं है इससे पहले गोरखपुर समेत कई जिलों में बेगुनाहों को पुलिस ने पीट-पीटकर मार डाला है पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए हर संभव मदद करेंगे

ये भी देखे: राष्ट्रपति के अगले कानपुर दौरे पर भी अधूरा रहेगा सर्किट हाउस

3 महीने में पुलिस की बर्बरता का चौथा बड़ा मामला

गोरखपुर में मनीष गुप्ता हत्या कांड, आगरा में सफाई कर्मी की मौत और कासगंज में पुलिस की पिटाई के बाद पुलिस की बर्बरता का चौथा बड़ा केस है गोरखपुर केस में स्पेक्टर जीवन सिंह समेत छह पुलिसकर्मी जेल में है सीबीआई जांच शुरू हो गई है आगरा के सफाई कर्मी की मौत के मामले में पुलिस की जांच आगे नहीं बढ़ पाई हफ्ते भर पहले कासगंज में भी पुलिस की बर्बरता से मौत का केस सामने आया था वही कल कानपुर देहात के अमराहट थाना क्षेत्र अंतर्गत पुलिस की लापरवाही के चलते पुलिस का शव पुलिस बनने का सपना देखने वाली एक नाबालिग लड़की की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है लड़की के परिजन भी पुलिस पर ही लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *