डेंगू और वायरल फीवर से मैनपुरी में मचा कोहराम, रोकथाम के लिए कोई ठोस कदम नही

0
डेंगू

न्यूज जगंल डेस्क, कानपुर : बदलते मौसम के मिजाज के चलते उत्तर प्रदेश के जनपद मैनपुरी में सैकड़ों गांव में वायरल फीवर और डेंगू का कहर चरम सीमा पर फैला हुआ है. जिस की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन की कोशिशें नाकाम होते हुए नजर आ रही है. कई परिवार ऐसे हैं जहां पानी देने देने वाले भी मौजूद नहीं है अगर बात की जाए तो अब तक जनपद में कई लोगों की मौतें वायरल फीवर और डेंगू से हो चुकी है.

अब तक हो चुकी है कई लोगों की मौत

मुख्यालय से 10 किलोमीटर की दूरी पर वसी नगर पंचायत ज्योति खुर्द के वार्ड 8, 5, और बाढ़ 9 के ग्राम नगला धर्मपाल का आलम ऐसा की वायरल फीवर और डेंगू की चपेट के चलते कई लोग बीमार है जहां घर-घर चारपाई बिछी हुई है. जानलेवा डेंगू के चलते अब तक 17 वर्षीय काजल 64 वर्षीय कमला देवी 55 वर्षीय गया प्रसाद 24 वर्षीय अलका देवी 22 वर्षीय पूनम के अलावा उमा दवी महेश चंद जाटव कन्हैया लाल पूनम देवी हरि ओम सहित 15 दिन में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है.

जिला प्रशासन ने रोकथाम के लिए नहीं उठाए कोई ठोस कदम

सही इलाज ना होने के कारण गांव के बीमारी से पीड़ित लोग आगरा इटावा के सैफई केअलावा अन्य शहरों में बने अस्पतालों की शरण लेने के लिए मजबूर हो गए हैं जो अपना उपचार भर्ती होकर उपचार करा रहे हैं यहां तक इस गांव में फैली बीमारी की खबर स्वास्थ्य विभाग के अलावा जिला प्रशासन को होने के बावजूद भी अभी तक बीमारी की रोकथाम के लिए कोई भी ठोस कदम नहीं उठाए गए हैं.

ये भी पढ़े : अखिलेश का सीएम योगी पर तंज, बोले- नाम बदलने में हमारे मुख्यमंत्री का….

जिसके चलते नगला धर्मपाल में इस तरह की स्थिति है कि एक लाश का अंतिम संस्कार कर लोग घर में नहीं आ पाते तब तक दूसरे की मौत हो जाती है हालांकि डेंगू के रूप में फैली महामारी की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन की स्वास्थ्य टीम गांव में कैंप लगाकर केवल खानापूर्ति करती हुई नजर आती है. वहीं जिला चिकित्सालय में डेंगू के नाम पर कोई भी उपचार नहीं है, जानकारी के मुताबिक जो पैथोलॉजी लैब की रिपोर्ट दे रहे हैं उनके विरुद्ध कार्रवाई भी की जा रही है क्योंकि जिला प्रशासन डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी को छुपाने का काम कर रहा है फैली बीमारी की जानकारी लेने के लिए आज गांव में पहुंचे मुख्य विकास अधिकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी के अलावा एडीएम रामजी मिश्रा ने भी स्वास्थ्य टीम के साथ गांव में पहुंच कर जायजा लिया. तो वहीं मीडिया को मुख्य विकास अधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि हर बुखार डेंगू बुखार नहीं होता. पीड़ितों के लिए स्वास्थ्य केंद्र लगाए जा रहे हैं और लोगों को राहत के साथ-साथ जीवन रक्षक दवाइयां भी वितरित की जा रही है.

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *