राजापुरवा “अम्बेडकर प्रतिमा” पर कांग्रेसजनों ने रखा मौन उपवास,जानें क्यों

0

न्यूज जगंल डेस्क: कानपुर आगरा में पुलिस कस्टडी में दलित युवक की मौत के विरोध में राजापुरवा “अम्बेडकर प्रतिमा” पर कांग्रेसजनों ने सामूहिक मौन उपवास रखा। उपवास के दौरान कांग्रेसजन हाथ में काली पट्टी बांधकर, काले झंडे और हाथ में तख्तियां लेकर बैठे। तख्तियों पर योगी पुलिस मुर्दाबाद, दलित विरोधी योगी सरकार, दलित हत्यारी पुलिस मुर्दाबाद, और हत्यारों को फांसी दो जैसे स्लोगन लिखे। उपवास के बाद काँग्रेस दक्षिण जिला अध्यक्ष डा. शैलेन्द्र दीक्षित ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी के शासन में पुलिस हत्यारी बन चुकी है। उन्होंने कहा कि अभी गोरखपुर पुलिस द्वारा एक व्यापारी की हत्या का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था, कि आगरा में पुलिस कस्टडी में दलित युवक की निर्मम हत्या से प्रदेश का आम नागरिक सहमा हुआ है। योगी की सरकार में रक्षक ही भक्षक बन बैठे हैं, अब आम जनमानस का पुलिसिया प्रणाली से विश्वास खत्म हो गया है।

50 लाख मुआबजे की रखी मांग,

डा. दीक्षित ने कहा कि वाल्मीकि जयंती के अवसर पर जहां पूरा देश महर्षि बाल्मीकि की आराधना में व्यस्त था। उसी समय उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा थाने के अंदर दलित युवक की हत्या एक चिंता का विषय है। उन्होंने सवाल उठाते हुये कहा कि क्या योगी सरकार हत्यारे हो चुके पुलिस वालों को उनके गुनाह की सजा दिला पाएगी ? डा. दीक्षित ने मृतक के परिजनों को ₹50 लाख की आर्थिक सहायता, आवास और सरकारी नौकरी की माँग की। साथ ही दोषी पुलिसकर्मियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार को तय करना चाहिए कि प्रदेश के अन्दर भविष्य में पुलिस द्वारा ऐसी घटना को अंजाम ना दिया जाए।

ये भी देखे: कार्तिक मास का हिंदू धर्म में बहुत अधिक महत्व होता है,जानें क्यों

काँग्रेस के 30 लाख आर्थिक सहायता को बताया सराहनीय,

मौन उपवास के बाद कांग्रेसजनों ने प्रियंका गांधी द्वारा पीड़िता परिवार को 30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और कानूनी सहायता दिये जाने पर उनको धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने दावा किया कि दलितों की सच्ची हितैसी सिर्फ काँग्रेस ही है। मौन उपवास में प्रमुख रूप से विनोद सिंह, टिल्लू ठाकुर, उषा रानी कोरी, हरिकिशन भारतीय, डॉ आर के जगत, सरिता सेंगर, प्रवीन द्विवेदी, अमित मिश्रा, अनिल द्विवेदी, ओ पी सिंह, शबनम आदिल, बउआ केसरवानी, बिन्नू रावत, डा.सन्तोष त्रिपाठी, कुक्कू चन्देल, हेनिना सिंह, अयोध्या नाथ मिश्रा, छेदी लाल, आर एस सिंह, हरगोविंद दीक्षित, दिनेश तिवारी, लईक अहमद, जब्बार खान, भोलानाथ, धर्मेंद्र सिंह, अतुल शर्मा, धर्मेंद्र भारती आदि लोग शामिल थे।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *