कोयला संकट की स्थिति को सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया गंभीर, लिखे पत्र

न्यूज़ जंगल डेस्क,कानपुर : देश के बिजली घरों (power plants) में कोयले की संकट (Coal Shortage) की आहट के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि स्थिति गंभीर है और कई मुख्यमंत्रियों ने केंद्र सरकार को इसके बारे में जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर स्थिति को सुधारने के लिए काम कर रहे हैं.

देशभर में कोयले की आपूर्ति में कमी पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, ”हम केंद्र के साथ मिलकर पूरी कोशिश कर रहे हैं. हम नहीं चाहते किसी भी तरह की आपात स्थिति पैदा हो. इस समय पूरे देश में स्थिति काफी नाज़ुक व गंभीर है. कई मुख्यमंत्री इस बारे में केंद्र सरकार को पत्र लिख चुके हैं.”

दिल्ली के ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन का दावा

बता दें कि कई राज्यों समेत देश की राजधानी दिल्ली में भी कोयला संकट गहरा गया है. दिल्ली सरकार के ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन की ओर दावा किया गया है कि मौजूदा वक्त में राजधानी में कोयले की बहुत ज्यादा कमी है. उन्होंने दावा किया है कि ज्यादातर प्लांट में दो-तीन दिन का ही स्टॉक बचा है. कोयला संकट को लेकर राज्य के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्र सरकार पर आंखे मूंद लेने का आरोप लगाया था.

‘एनटीपीसी के सारे प्लांट 55-50 फीसदी क्षमता पर कर रहे काम’

दिल्ली के ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है, ”किसी भी पॉवर प्लांट में कोयले का स्टॉक 15 दिन से कम का नहीं होना चाहिए.” उन्होंने दावा कि अभी ज्यादातर प्लांट में दो से तीन दिन का स्टॉक बचा हुआ है. ऊर्जा मंत्री ने कहा कि एनटीपीसी के सारे प्लांट 55-50 फीसदी क्षमता पर काम कर रहे हैं.

ये भी पढ़े : ग्रेटर नोएडा मे 55 साल की एक दलित महिला के साथ चार लोगों ने किया गैंगरेप, पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *