बेंगलुरू: पीएम मोदी मार्च में तीन बार करेंगे कर्नाटक का दौरा, विपक्ष चिंतित 

भाजपा की बेंगलुरु-मैसूर एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के दिन दो किलोमीटर रोड शो करने की भी योजना है, जिसकी क्लीयरेंस अभी बाकी है. 25 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दावणगेरे शहर में विजय संकल्प यात्रा के समापन समारोह में भाग लेंगे. आदर्श आचार संहिता की घोषणा के आधार पर पार्टी 28 मार्च को कार्यक्रम आयोजित करने पर विचार कर रही है.

News Jungal desk : कर्नाटक में सत्तारूढ़ भाजपा राज्य में ‘मोदी लहर’ का फायदा उठाकर सत्ता में वापसी के लिए हर संभव प्रयास कर रही है । पार्टी सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महीने (मार्च) तीन बार चुनावी राज्य कर्नाटक का दौरा करने वाले हैं । और पीएम मोदी ने इस साल कर्नाटक की पांच यात्राएं करी हैं और रोड शो और सार्वजनिक रैलियों सहित विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया है . और उन्होंने सभी क्षेत्रों को कवर करते हुए राज्य के विभिन्न हिस्सों का भी दौरा करा है ।

उन्होंने अपनी यात्राओं के दौरान परिवार की राजनीति की आलोचना करने के अलावा कांग्रेस और जद (एस) पर निशाना साधा था । और जब पीएम मोदी ने बेलगावी में लोगों को याद दिलाया था कि कैसे कांग्रेस ने एआईसीसी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे सहित राज्य के दिग्गज नेताओं का अपमान किया गया है ।

सूत्रों ने बताया कि कर्नाटक में चुनाव की घोषणा से पहले पीएम मोदी राज्य का तीन बार दौरा करेंगे । और पीएमओ ने दो यात्राओं की पुष्टि करी है । लेकिन तीसरे को मंजूरी देना अभी बाकी है । पीएम मोदी के 12 मार्च को बेंगलुरु-मैसूर हाईवे का उद्घाटन करने की उम्मीद है । और इससे पहले उनका मांड्या जाने का भी कार्यक्रम था । लेकिन इसे अस्थायी रूप से 16 मार्च के लिए टाल दिया गया है ।

भाजपा की बेंगलुरु-मैसूर एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के दिन दो किलोमीटर रोड शो करने की भी योजना है । और जिसकी क्लीयरेंस अभी बाकी है । और 25 मार्च को प्रधानमंत्री दावणगेरे शहर में विजय संकल्प यात्रा के समापन समारोह में भाग लेंगे और आदर्श आचार संहिता की घोषणा के आधार पर पार्टी 28 मार्च को कार्यक्रम आयोजित करने पर विचार कर रही है ।

पार्टी अंजनाद्री हिल्स में विकास कार्यों के उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री मोदी को भी शामिल करने की योजना बना रही है । और जिसे भगवान हनुमान का जन्म स्थान माना जाता है । राज्य में पीएम मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा चुनाव प्रचार के बाद कांग्रेस की रातों की नींद हराम हो गई है । और राज्य में उनके बार-बार दौरे के मद्देनजर, कांग्रेस नेताओं ने उन्हें पोल एजेंट करार दिया ।

Read also : यूपीपीसीएस 2023 का नोटिफिकेशन ,175 पदों पर होगी बहाली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *