अखिलेश यादव ने अमित शाह पर कसा यह तंज

samajwadi president akhilesh yadav: अमित शाह पर अखिलेश की चुटकी, बोले-  प्रदेश में एक बाबा कम थे क्‍या जो दूसरे बाबा आ गए - samajwadi president akhilesh  yadav attacks amit shah after his pro caa rally in lucknow | Navbharat Times

न्यूज़ जंगल डेस्क,कानपुर : उत्तर प्रदेश में कुछ ही महीनों में विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) होने हैं. सभी सियासी दल चुनाव से पहले एक दूसरे पर तंज कसते नजर आ रहे है. इसी कड़ी में शनिवार को सपा अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) पर शायराना अंदाज में तंज कसा. अखिलेश यादव ने यह तंज उनके दूरबीन वाले बयान पर कसा है।

दरअसल, अमित शाह शुक्रवार (29 अक्टूबर) को लखनऊ पहुंचे थे और पार्टी के मेगा सदस्यता अभियान ‘मेरा परिवार-भाजपा परिवार’ का उद्घाटन किया था. इस दौरान शाह ने कार्यकर्ताओं को संबंधित करते हुए मंच से कहा कि था कि यूपी के हर जिले में दो-तीन बाहुबली थे. लेकिन आज दूरबीन लेकर ढूंढता हूं, कही पर बाहुबली दिखाई नहीं पड़ता है।

लखनऊ में बोलते हुए अमित शाह ने कहा था कि पूर्व की सरकारों में बच्चियां घर से बाहर नहीं निकलती थी. मेरठ में यूनिवर्सिटी होने के बाद भी छात्राओं को दिल्ली में रहकर पढ़ाई करनी पड़ती थी. क्योंकि उनकी सलामती नहीं थी. लेकिन आज कोई भी त्योहार हो 16 साल की बच्ची भी गहने लादकर रात 12 बजे भी स्कूटी से यूपी की सड़कों पर निकल सकती है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शुक्रवार को लखनऊ पहुंचे थे। यहां उन्होंने एक जनसभा के जरिए सपा प्रमुख अखिलेश यादव से सवाल पूछा कि, उन्होंने राम मंदिर के लिए 5 हजार रुपए भी नहीं दिए। शाह के इस बयान पर अखिलेश ने कहा, हम बीजेपी से ज्यादा अच्छा मंदिर बनाएंगे।

सपा और सुभासपा के कार्यकताओं को संबोधित करते हुए ओमप्रकाश राजभर ने 2022 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए जी जान से मेहनत करने संकल्प लिया. कार्यकर्ताओं के साथ बैठक के बाद ओमप्रकाश राजभर ने अन्य दलों के साथ कई बैठक करने और फिर सपा के साथ गठबंधन करने के सवाल पर कहा की सपा से पहले हमने कोई गठबंधन नहीं किया था. बीजेपी लोगों को हिंदू-मुसलमान, भारत-पाकिस्तान और मंदिर-मस्जिद ही पढ़ाती है. आज हिंदू खतरे में नहीं है, बीजेपी की कुर्सी खतरे में है. उन्होंने कहा की मुसलमानों को देश से निकालने की बात कहते हैं, लेकिन किसी मुसलमान को देश से बाहर नहीं निकाला।

यह भी देखेंःआर्यन खान पहुंचे मन्नत,शाहरुख फैंस का उमड़ा जन सैलाब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *