सलमान खुर्शीद के बाद अब राशिद अल्वी ने राम भक्तों को बताया राक्षस

0

न्यूज जंगल डेस्क, कानपुर : कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के बाद अब राशिद अल्वी ने हिंदुओं को लेकर विवादित बयान दिया है. कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने जय श्री राम का नारा लगाने वालों की तुलना रामायण के कालनेमि राक्षस से की है. उन्होंने कहा है कि रामराज्य और जय श्री राम का नारा लगाने वाले मुनि नहीं, बल्कि रामायण काल के कालनेमि राक्षस हैं. बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने इसपर पलटवार किया है.

अमित मालवीय ने राशिद अल्वी के बयान का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “सलमान खुर्शीद के बाद अब कांग्रेस के नेता राशिद अल्वी जय श्री राम कहने वालों को निशाचर (राक्षस) बता रहे हैं. राम भक्तों के प्रति कांग्रेस के विचारों में कितना जहर घुला हुआ है.”

उत्तर प्रदेश के जनपद संभल में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने कहा, ‘हम भी चाहते हैं इस देश में रामराज्य होना चाहिए, लेकिन जिस राज्य में बकरी और शेर एक घाट पर पानी पीते हो वहां नफरत कैसे हो सकती है.’ राशिद अल्वी ने बीजेपी की तरफ इशारा करते हुए कहा, कि इस देश में जय श्री राम का नारा लगाकर लोगों को जो लोग गुमराह करते हैं, ऐसे लोगों से सावधान रहना चाहिए. 

वहीं राशिद अल्वी ने इशारों इशारों में बीजेपी पर निशाना साधते हुए जय श्री राम का नारा लगाने बालों की तुलना रामायण के कालनेमि राक्षस से करते हुए कहा कि जब लक्ष्मण मूर्छित होकर गिरे थे तो वैध के कहने पर हनुमान जी हिमालय से संजीवनी बूटी लेने गए थे. उस समय राक्षस नीचे बैठकर जय श्री राम का नारा लगा रहा था. जय श्री राम का नारा सुनकर हनुमान जी नीचे उतर आए थे.

राक्षस ने हनुमान जी का कीमती वक्त खराब करने के लिए जय श्री राम का नारा लगाने से पहले स्नान करने भेज दिया था. तभी अप्सरा ने हनुमान जी को बताया था कि तुम्हें स्नान करने के लिए भेजने वाला कोई मुनि नहीं है बल्कि घोर राक्षस है. इसलिए सभी को समझना चाहिए कि जय श्री राम का नारा लगाने वाले कोई मुनि नहीं है बल्कि वह राक्षस है जिन से हमें होशियार रहना है.

सलमान खुर्शीद ने क्या कहा था
उधर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ का विमोचन कर एक नया सियासी विवाद खड़ा कर दिया है. किताब में अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को सही ठहराया गया है, मगर हिंदुत्ववादियों की तुलना आईएसआईएस और बोको हराम जैसे आतंकी संगठनों के ‘जिहादी इस्लाम वाली सोच’ से की गई है. इस किताब के विमोचन के मौके पर बुधवार को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम भी मौजूद रहे.

ये भी पढ़े : पायलट और गहलोत में मनमुटाव दूर करने को सोनिया ने संभाली कमान

पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब में लिखा है कि “आज के हिंदुत्व का राजनीतिक रूप, एक तरह से साधु-संतों के सनातन और प्राचीन हिंदू धर्म को किनारे लगा रहा है, जो निश्चित तौर पर आईएसआईएस और बोको हरम जैसे जिहादी इस्लामी संगठनों जैसा ही प्रतीत होता है.” हालांकि इस किताब में उन्होंने अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की तारीफ की.

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *