जम्मू-कश्मीर में खराब मौसम से 5 की मौत, पहली बर्फबारी मे जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद

0

न्यूज जंगल डेस्क,कानपुर : जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में बर्फबारी में फंसे दो लोगों की मौत हो गई, जिससे खराब मौसम के चलते जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है. जबकि दो लोगों को सुरक्षित निकाला गया है. 

ऊंचाई वाले इलाकों में पहली बार मध्यम हिमपात होने से 270 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग (Jammu-Srinagar National Highway) और मुगल रोड (Mughal Road) और किश्तवाड़-सिमथन रोड पर यातायात शनिवार को रोक दिया गया.

अधिकारियों ने कहा कि रियासी जिले में माता वैष्णो देवी तीर्थ का दर्शन करने वाले तीर्थयात्रियों के आधार शिविर कटरा में सुबह 8.30 से शाम 5.30 बजे के बीच सबसे अधिक 90.7 मिमी बारिश हुई, लेकिन तीर्थयात्रा बिना किसी व्यवधान के जारी रही. 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (राष्ट्रीय राजमार्ग) शबीर मलिक ने बताया कि जम्मू- श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग कश्मीर को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाली एकमात्र सड़क है. भारी बारिश के कारण रामबन शहर के पास कैफेटेरिया मोड़ पर भीषण भूस्खलन से मार्ग अवरुद्ध हो गया, जिससे यातायात को निलंबित कर दिया गया.

उन्होंने बताया कि केला मोड़ और मौमपासी सहित रामबन-बनिहाल सेक्टर के बीच राजमार्ग पर स्थित कई स्थानों पर पहाड़ों से पत्थर गिरने की भी सूचना है. 

मलिक ने बताया, ‘‘लगातार बारिश से राजमार्ग पर मरम्मत का काम बाधित हो रहा है. बारिश बंद होने के बाद कैफेटेरिया मोड़ इलाके में भूस्खलन के मलबे को साफ करने में कम से कम पांच घंटे लगेंगे. ‘ उन्होंने बताया कि सबंधित एजेंसियों ने सड़क की सफाई के लिए मशीनों और कर्मियों को तैयार रखा है.

चूंकि बारिश में कोई कमी नहीं आई है और मौसम विभाग ने रविवार को भी इसके जारी रहने का पूर्वानुमान जताया था, इसलिए यातायात विभाग ने रविवार को भी राजमार्ग को बंद करने का आदेश दिया. अधिकारियों ने कहा कि जम्मू और दक्षिण कश्मीर के बीच एक वैकल्पिक लिंक किश्तवाड़-सिमथन मार्ग के एक हिस्से को मध्यम हिमपात के कारण यातायात के लिए बंद कर दिया गया है. 

हिमपात के बाद गाड़ियों की आवाजाही बंद कर दी गई

अधिकारियों ने बताया कि जम्मू क्षेत्र के पुंछ और राजौरी जिलों को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले से जोड़ने वाले वैकल्पिक मार्ग मुगल रोड स्थित पीर की गली और आसपास के इलाकों में भी रात भर मध्यम हिमपात होने के कारण यातायात बंद कर दिया गया.

अधिकारियों ने बताया कि मुगल रोड पर पीर की गली के अलावा रामबन, डोडा, किश्तवाड़, पुंछ, राजौरी और रियासी जिलों के ऊंचाई वाले इलाकों से भी पहले मध्यम हिमपात की सूचना है.  मौसम कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि पिछले 12 घंटों के दौरान मैदानी इलाकों में मध्यम बारिश और ऊपरी इलाकों में हल्की से मध्यम बर्फबारी हुई. 

ये भई पढ़े : कांग्रेस सदस्य बनना है तो छोड़े शराब, ड्रग्स और पार्टी की सार्वजनिक आलोचना

24 घंटों तक मौसम नम रहने का अनुमान

मौसम विभाग के अधिकारी ने केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में अगले 24 घंटों तक मौसम नम रहने का अनुमान जताया है और कहा है कि 24 अक्टूबर की दोपहर से मौसम में उल्लेखनीय सुधार होगा. उन्होंने बताया कि जम्मू में इस मौसम के दौरान 12.8 मिमी बारिश और न्यूनतम तापमान 15.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 1.6 डिग्री कम है. 

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *